Shri Jairam Ramesh

पत्रकारों को संबोधित करते हुए श्री जयराम रमेश जी ने कहा कि पिछले पांच दिनों से कांग्रेस पार्टी की तरफ से 34 सवाल सावल पूछे गए हैं। हमारे वरिष्ठ नेता पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदम्बरम, पूर्व मंत्री आनंद शर्मा, पूर्व मंत्री सी.पी.जोशी, रणदीपसुजेवाला और अलग-अलग नेताओं ने सीधे सवाल मोदी कांड के बारे में पूछे है।


ये सवाल सिर्फ विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज, राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुधंरा राजे से ही नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से भी हैं। इतने गंभीर मामले पर पीएम जी की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। पीएम मोदी जी क्यों मौन हैं, यह सारा देश देख रहा है। दो दिन के बाद अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस होने वाला है, योग दिवस में पीएम मोदी जी एक नए आसन में बैठे हैं। कान, नाक, आंख और मुंह बंद करके, इसका नाम है ललित आसन। पीएम मोदी जी पिछले चार दिनों से ललित आसन में बैठे हैं। हम उम्मीद करते हैं की पीएम मोदी जी योग दिवस के बाद ललित आसन से उठ कर असली दूनिया में आएंगे।


हम मान कर चल रहे थे की ललित मोदी जी का मामला गलत व्यव्हार का मामला है। परंतु ये मामला गलत व्यव्हार का नहीं है, यह दस्तावेजों से, रिपोर्ट से साफ दिखाई देता है कि यह सिर्फ गलत व्यव्हार का मामला ही नहीं है, यह सब जनता के सामने आ चुका है, यह मामला सांठ-गांठ का मामला है। हकीकत में बुनियादी बात है नेक्सस की, अंदरुनी सांठ-गांठ की। यह नेक्सस किसके बीच में है?  ‘छोटा मोदी और बड़ा मोदी के बीच में? और इसमें एक व्यक्ति शामिल है वो हैं जो हमारे प्रधानमंत्री के पसंददीदा उघोगपति हैं गौतम अडाणी।


2009 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात क्रिकेट एसोशियेसन के अध्यक्ष बने और जब वो गुजरात क्रिकेट एसोशियेसन के अध्यक्ष बने गौतम अडाणी को कमर्शियल प्रोमोटर नियुक्त किया। 2014 में अमित शाह जी गुजरात क्रिकेट एसोशियेसन के अध्यक्ष बने और गौतम अडाणी कमर्शियल प्रोमोटर बने रहे, वहां कोई परिवर्तन नहीं हुआ। जो यह नेक्सस की बात होती है जो दस्तावेज में साफ दर्शाया गया है की यह नेक्सस 2009 में उसके बीज बोये गए, जो फूल बनकर उभरे हैं पिछले एक-दो साल में। अब सब दिखाई दे रहा है। कांग्रेस पार्टी यह मानती है कि यह गलत व्यव्हार का मामला नहीं है पर आज ये नेक्सस का मामला है सांठ-गांठ का मामला है।


एक अन्य प्रश्न कि हिमाचल के सीएम के खिलाफ सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में केस दर्ज किया है। इस पर आप क्या कहेंगेश्री जयराम रमेश ने कहा  यह बदले की राजनीति है जो श्री वाघेला जी के खिलाफ और श्री वीरभद्र जी के खिलाफ की गई है। जो केस दर्ज किए हैं यह सब बदले की राजनीति से किया है और कुछ नहीं।


एक अन्य प्रश्न कि कांग्रेस पार्टी पीछले पांच दिनों से विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे के इस्तीफे की मांग कर रही है, अगर यह मामला नैक्सस का है तो आपको लगता है की पीएम मोदी जी इनका इस्तीफा लेंगे, श्री जयराम रमेश ने कहा कि बार-बार पहले दिन से हमारी मांग रही है की इस मामले में  विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज और राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे का इस्तीफा लें। 22 सवाल श्री सूरजेवाला जी ने, 5 सवाल आनंद शर्मा जी ने और 7 सवाल श्री पी.चिदम्बरमं जी ने उठाए है। इनका जवाब देना चाहिए, जवाब से जनता के सामने यह आएगा की ललित कांड में किसकी क्या भूमिका रही है।


एक अन्य प्रश्न कि आपको नहीं लगता की योग के कारण पूरा देश एक हो गया हैश्री जयराम रमेश ने कहा  कि योग का आविष्कार पीएम मोदी जी ने नहीं किया है, जवाहरलाल जी के समय से प्रधानमंत्री योग करते आए हैं। अगर आप चाहते हैं तो मैं आपको पंडित जवाहलाल नेहरु की एक बहुत मशहूर तस्वीर दिखा सकता हूं, मोरारजी देसाई, इंदिरा गांधी जी, नरसिम्हा राव सब लोग प्रधानमंत्री रहे हैं पर किसी ने एडवर्टाइज नहीं किया योग के बारे में। मैं भी योग करता हूं, पांच साल की उम्र से मैं योग करते आ रहा हूं, पर मैं किसी को कहता नहीं हूं की मैं योग करता हूं। यह प्रधानमंत्री जी की एक खूबी है कि वो बार-बार सैल्फ प्रमोशन और सैल्फ एडवर्टाइजमेंट करते हैं। मैं यह पूछना चाहता हूं की क्या अंतर्राष्ट्रिय योग दिवस पर प्रधानमंत्री जी शीर्षासन पर बैठेंगे कि नहींललित आसन से उठ कर शीर्षासन पर बैठेंगे कि नहीं? तब हमें यकीन होगा की वो योग करते हैं।


एक अन्य प्रश्न कि क्या पीएम मोदी जी ललित मोदी की तरफ से ध्यान हटाने के लिए योग दिवस कर रहे हैं, श्री जयराम रमेश ने कहा  कि अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस एक महत्वपूर्ण दिवस है, कई लोग इसमें भाग लेंगे, लेना भी चाहिए। यह हमारे देश के लिए गर्व का मौका है। यह अंर्तराष्ट्रीय योग दिवस है और यह  हमारे देश तक ही सीमित नहीं है। मैं सिर्फ यह कहना चाहता हूं कि नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री नहीं हैं जो योग के बारे में विश्वास रखते हैं, और भी संस्थाएं हैं जो योग से जुड़ी हुई हैं, जो 30-40 साल से योग पर काम करती आ रही हैं, तो यह कोई नई बात नहीं है।


On a question that till now this matter was limited to only Smt. Sushma Swaraj and Chief Minister Smt. Vasundhara Raje Scindia but today the Congress party has put the accusation of nexus on the Prime Minister also, Shri Ramesh said in 2009 the present Prime Minister became the President of Gujarat Cricket Association and Shri Gautam Adani was made the Commercial Promoter. After 5 years the present BJP President Shri Amit Shah became the President of Gujarat Cricket Association and Shri Gautam Adani continued to be the Commercial Promoter. This is not my accusation, these are the papers which speak for themselves and explain the relations between Lalit Modi and Shri Gautam Adani. Shri Ramesh further said it is very strange that the present President of the Gujarat Cricket Association and the former President of Gujarat Cricket Association is not aware of the relations between Lalit Modi and Shri Gautam Adani.

 

On the question of the nexus of the Prime Minister, Shri Ramesh said the Congress party is of the view that whoever has committed a wrong, irrespective of the party affiliation, this is not a party matter, after a due process of law, must be found either guilty or innocent. Why are we making this case against Lalit Modi because he is a proclaimed offender? The Enforcement Directorate has pending cases against him. These are not wild charges. These are pending cases and I would request you to see the 7 questions that Mr. Chidambaram, the former Finance Minister, has raised on 17th of this month.

 

On another question that being the present Government in majority, does the Congress party feel that the Union External Affairs Minister and Chief Minister of Rajasthan will resign, Shri Ramesh said this Government is certainly on the defensive and on the back foot. The central Government is caught in a trap of its own making and the only way it can save itself, is by getting the resignation of the External Affairs Minister and the Chief Minister of Rajasthan. There is no other way. No other explanation will suffice as I said this is not only for the survival of the Government, it is also for the future functioning of Parliament as well.

 

Shri Ramesh also said we will see when the monsoon session comes but between now and the monsoon session, we certainly demand and expect that the Foreign Minister and the Chief Minister of Rajasthan will submit their resignation and their resignations will be accepted and not have a drama.

 

To a question on the interview of Lalit Modi two days ago where he said that Shri Salman Khurshid former External Affairs Minister had lunch with him, Shri Ramesh said being friends is no crime but making use of friendship to break the laws is the crime. We are not against the people having friendship. What we are against the misuse of such friendship and the violation of the rules.

 

On the question that the BJP and its President are part of the nexus, the Congress party is not demanding anything from them, Shri Ramesh said that first step, we are seeking, demanding and agitating for the resignation of the External Affairs Minister and the Chief Minister of Rajasthan.

 

On the question of the nature of papers based on which the Congress party is certain of the above nexus, Shri Ramesh said I am sure the lawyer of Lalit Modi has distributed such papers to the media. I do not need to repeat what is there in the newspaper. 

 

On the question of the reaction of the Congress party on their double-speak, Shri Ramesh questioned whether any Congress leader helped Lalit Modi to evade the law, has any Congress leader helped Lalit Modi escape from the clutches of the Enforcement Directorate, please answer this question. If there is a Congress leader or any Congress person who has helped Lalit Modi escape from the law, I am sure the Congress leadership will take cognizance of it.

 

 

Sd/-

(S. V. Ramani)

Secretary

Communication Deptt.