Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addresses the gathering at the national convention of Sevadal

Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addresses the gathering at the national convention of Sevadal



ALL INDIA CONGRESS COMMITTEE

24, AKBAR ROAD, NEW DELHI

COMMUNICATION DEPARTMENT


Highlights of the CP Speech: February 14, 2019


Congress President Shri Rahul Gandhi addressed the National Convention of All Indian Seva Dal at Ajmer, Rajasthan.


श्री राहुल गांधी ने सेवादल के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि अविनाश पांडे जी, अशोक गहलोत जी, सचिन पायलट जी, रघुवीर मीणा जी, लालजी देसाई जी, राकेश पारीक जी, कांग्रेस पार्टी के सब मंत्री, एमएलए, कांग्रेस पार्टी के नेता, सेवादल के हमारे सब वॉलंटियर्स, कार्यकर्ता, भाईयों और बहनों, प्रेस के हमारे मित्रों आप सबका यहाँ बहुत-बहुत स्वागत, नमस्कार आप दूर-दूर से आए हैं, इसके लिए आप सबको दिल से धन्यवाद।


आज देश में विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ आरएसएस-भाजपा और दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है। वो नफरत फैलाते हैं, वो सुबह उठकर, हाफ पैंट पहनकर, लाठी उठाते हैं और हम देश को जोड़ने का काम करते हैं, हम प्यार और मोहब्बत से काम करते हैं, ये बुनियादी फर्क है। नरेन्द्र मोदी जी के बड़े-बड़े भाषण होते हैं, देश को बदलना है, 70 साल में कुछ नहीं हुआ। लाल किले से कहते हैं, मेरे आने से पहले हाथी सो रहा था। मतलब, गांधी जी ने कुछ नहीं किया, सरदार पटेल जी ने कुछ नहीं किया, जवाहर लाल नेहरु, अम्बेडकर जी, देश के तमाम चीफ मिनिस्टर्स, देश की जनता, देश के किसान, देश के मजदूर, देश के छोट-छोटे दुकानदारों ने कुछ नहीं किया। नरेन्द्र मोदी जी आए और फिर उन्होंने हिंदुस्तान में काम शुरु किया, ये इनकी मेंटेलिटी है, इनकी सोच है और इनको ये भी समझ नहीं आता है कि जब ये ऐसे बोलते हैं तो ये सिर्फ कांग्रेस पार्टी का अपमान नहीं कर रहे हैं, देश के हर नागरिक, देश के हर व्यक्ति का अपमान कर रहे हैं। 


कांग्रेस पार्टी बोलती है, हमारे प्रधानमंत्री बोलते हैं,  हमारे नेता बोलते हैं, गांधी जी के कोट्स आप पढ़िए, सरदार पटेल जी के बारे में पढ़िए अम्बेडकर जी, नेहरू जी, इनके बारे में पढ़िए, ये सब बोलते हैं, जो भी देश में होता है, वो देश करता है। जो भी देश में होता है, वो देश का किसान करता है, देश का मजदूर करता है, देश का युवा करता है, देश की माताएं- बहनें करत हैं। तो इनके लिए हिंदुस्तान एक प्रोडक्ट है, हमारे लिए हिंदुस्तान एक समुंद्र है इसमें सब लोग हैं, एक साथ ये मिलकर चलता है। उनके लिए हिंदुस्तान प्रोडक्ट है, जैसे उनके प्रेसीडेंट कहते हैं, सोने की चिड़िया है और प्रोडक्ट का पूरा का पूरा फायदा उनके चंद 10-15-20 मित्रों को मिलना चाहिए, ये फर्क है।


हम मनरेगा शुरु करते हैं, हम किसान की कर्जामाफी की बात करते हैं, 70 हजार करोड़ रुपए कर्जा माफ करते हैं, राजस्थान में गहलोत जी ने किया, मध्य प्रदेश में किया, छत्तीसगढ़ में किया, पंजाब में किया, कर्नाटक में किया। 

नरेन्द्र मोदी जी किसान को भाषण देते हैं, उनसे वायदे करते हैं फिर साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, ललित मोदी, विजय माल्या जैसे लोगों का कर्जा माफ करते हैं। देश को 15-20 लोगों के लिए चलाते हैं, ये लड़ाई है। हम कहते हैं, देश सबका है और न्याय सबको मिलना चाहिए। किसान को न्याय मिलना चाहिए, गरीबों को न्याय मिलना चाहिए, छोटे दुकानदारों को न्याय मिलना चाहिए, सबको न्याय मिलना चाहिए। वो कहते हैं न ! किसान आत्महत्या करे तो ठीक है, पूरे देश की जनता लाइन में बैंक के सामने खड़ी हो जाए, लोग मर जाएं, कोई फर्क नहीं पड़ता। गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) लागू करना है, तो करेंगे। 5 टैक्स लागू करेंगे, कोई फर्क नहीं पड़ता किस को नुकसान हो, किस को न हो; फायदा 10-15 लोगों को होना चाहिए (सेवादल के कार्यकर्ताओं ने कहा, चौकीदार चोर है) और ये नया नारा निकला है, चौकीदार (सेवादल के कार्यकर्ताओं ने कहा, चोर है) और ये कहीं भी बोल दो, आप कहीं भी जाकर बोलो, चौकीदार, जवाब मिलता है- चोर है, चौकीदार चोर है। पूरा देश जानता है, चौकीदार ने चौकीदारी अनिल अंबानी के लिए की, 15-20 उद्योगपतियों की की, किसानों की, मजदूरों की, छोटे दुकानदारों की नहीं की, उल्टा चौकीदार ने इनसे चोरी करके उनको पैसा दिया है (15-20 उद्योगपतियों को)। 


ये सेवादल का कार्यक्रम है, तो थोड़ा सा मैं इस सेवादल के बारे में बोलना चाहता हूँ और कांग्रेस प्रेसीडेंट आज इस स्टेज से पहला काम सेवादल से माफी मांगने का करता है। क्यों? आप पूछोगे कि कांग्रेस प्रेसीडेंट अपने ही संगठन कांग्रेस पार्टी के प्यारे संगठन से  उनके अधिवेशन में माफी क्यों मांग रहा है। मैं आपको बताना चाहता हूँ कि मैं आपसे माफी क्यों मांगना चाहता हूं। मैं आपसे माफी इसलिए मांग रहा हूं क्योंकि आपकी कांग्रेस परिवार में जो जगह है, जो आपको आदर मिलना चाहिए, वो आदर आपको नहीं मिला है। मैं कांग्रेस पार्टी की ओर से आपसे माफी मांगी है, मगर मैं आपसे पर्सनल माफी भी मांगना चाहता हूं आज लाइनअप में सेवादल के जो बिहार के चीफ हैं, उन्होंने मुझसे एक बात बोली, उन्होंने मुझसे बोला कि बिहार में बहुत बड़ी मीटिंग हुई, जबरदस्त मीटिंग हुई, लाखों लोग आए, कांग्रेस अध्यक्ष ने युवा कांग्रेस का नाम लिया, महिला कांग्रेस का नाम लिया, एनएसयूआई का नाम लिया, मगर सेवा दल का नाम नहीं लिया, तो मैं आपके सामने अपनी गलती मानता हूं और मैं आपको यह आश्वासन भी देना चाहता हूं कि ये आज के बाद यह कभी नहीं होने वाला है। इसका कारण है क्योंकि कांग्रेस पार्टी की रीढ़ की हड्डी, कांग्रेस पार्टी की विचारधारा के रक्षक, जिसको फर्स्ट लाइन ऑफ डिफेंस कहते हैं, फर्स्ट लाइन ऑफ डिफेंस यूथ कांग्रेस नहीं है, एनएसयूआई नहीं है, डिस्ट्रिक्ट प्रेजिडेंट नहीं है, कांग्रेस अध्यक्ष नहीं है, सेवादल है। तो आपको मैं यहाँ आश्वासन देना चाहता हूं कि आप हमारा सबसे जरुरी संगठन हो और मैं चाहता हूं, मैं ये करुंगा कि जो आदर आपको मिलना चाहिए, चाहे वो कांग्रेस अध्यक्ष से हो, चाहे हमारे चीफ मिनिस्टर से हो, चाहे डिस्ट्रिक्ट प्रेजिडेंट से हो, चाहे ब्लॉक प्रेजिडेंट से हो, वो आपको मिलेगा। 


मैंने आपसे माफी मांगी, मैं शिकायत भी करना चाहता हूं कि परिवार है, जिस प्रकार से सेवादल को जनता के साथ मिलकर लड़ाई लड़नी चाहिए, उस प्रकार, मैं आज की बात नहीं कर रहा हूं, मैं पहले की बात कर रहा हूं, उस प्रकार सेवादल ने काम भी नहीं किया। अब एक नई शुरुआत करनी है, कांग्रेस पार्टी सेवादल को अपना सबसे जरुरी संगठन मान कर चलेगी, मगर सेवादल कांग्रेस पार्टी का सबसे मजबूत संगठन बनकर दिखाएगी। इसका मतलब कि लाखों नए युवाओं को सेवादल में लाना पड़ेगा, जब आंधी आएगी, तूफान आएगा तो वहाँ पर सेवादल के लोग होंगे, ये जो आपकी सफेद वर्दी है, सफेद टोपी है, वहाँ पर हजारों में दिखाई देनी चाहिए। जहाँ भी हिंदुस्तान को चोट पहुंचती है, दर्द होता है, जहाँ आर.एस.एस. नफरत फैलाती है, जहाँ आर.एस.एस. बांटने का काम करती है, एक धर्म को दूसरे धर्म से लड़ाती है, एक जाति को दूसरे जाति से लड़ाती है, एक प्रदेश को दूसरे प्रदेश से लड़ाती है, जैसे अभी उन्होंने नोर्थ ईस्ट में आग लगा दी, पूरे नोर्थ ईस्ट में आग लगा दी, जहाँ भी ये आग लगाएंगे, वहाँ प्यार के साथ आग को बुझाएंगे। मैं आपकी पूरी रक्षा करुंगा, आपका अपमान नहीं होगा और आपको हम सबसे जरुरी संगठन बनाएंगे, मगर आपको आर.एस.एस. के खिलाफ पूरे दम से- जहाँ वो नफरत फैलाते हैं, वहाँ आप प्यार फैलाओ, जहाँ वो लाठी चलाते हैं, वहाँ आप गले लगो। आपने संसद में देखा, एक तरफ नरेन्द्र मोदी जी मेरे परिवार के बारे में, मेरे बारे में उल्टी-सीधी बात करते हैं, गाली देते हैं, पूरी कांग्रेस पार्टी का अपमान करते हैं, कहते हैं कांग्रेस पार्टी को मिटा दूंगा और कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष लोकसभा में जाकर उनसे गले मिलता है। आपने उनका चेहरा देखा होगा। भाईयों और बहनों, नफरत को नफरत नहीं काट सकती है, नफरत को प्यार ही काट सकता है। जब मैं नरेन्द्र मोदी जी से मिला, जब मैं उनसे गले मिला, मेरे दिल में उनके लिए नफरत नहीं थी, मैं अपना एक्सपीरियंस बता रहा हूं, जब मैं नरेन्द्र मोदी जी से गले मिला, उनके अंदर जो नफरत थी, उस नफरत को मेरे प्यार ने दबा लिया। मैंने नरेन्द्र मोदी जी के चेहरे पर देखा, संसद में देखा, उन्होंने मेरी तरफ देखा और उनके अंदर जो नफरत थी, उसको वो संभाल नहीं पाए, हैरान हो गए कि ये क्या हुआमेरी नफरत को प्यार ने कैसे काट दिया और इस बात को हर आर.एस.एस. के व्यक्ति ने देखा, देश के हर व्यक्ति ने देखा कि प्यार नफरत को एक सैंकड में काट देता है। ये गांधी जी ने कहा था, ये आपका इतिहास है, मैं सेवादल की बात नहीं कर रहा हूं, मैं हिंदुस्तान की बात कर रहा हूं, ये इस देश का इतिहास है और आप देख लीजिए, सेवादल की बात कीजिए, गांधी जी की बात कीजिए, अंबेडकर जी की बात कीजिए, उससे पीछे जाईए, वीरों की बात कीजिए, जिनको हम भगवान मानते हैं, उनकी बात कीजिए, ये देश नफरत का देश नहीं है, ये देश प्यार का देश है और ये आपका काम है, ये आपकी जिम्मेदारी है। आपको हम जगह देंगे, आपको हम आदर देंगे, मगर आपको कांग्रेस पार्टी को रास्ता दिखाना पड़ेगा। जो आप ट्रैंनिंग पहले करते थे, जिसकी प्रशंसा हर व्यक्ति करता है, दूर-दूर से लोग आते हैं और कहते हैं कि मैंने तीन दिन की सेवादल की ट्रैंनिग की, उसके बाद मेरा खून कांग्रेस पार्टी का हो गया, मेरा डीएनए बदल गया। ये काम आपका काम है, जो आप पहले करते थे, वो आज आपको करना है, करना ही पड़ेगा। मैं आपको बधाई देता हूं कि आपने ऐसी बडी मीटिंग की, चर्चा की, विचारधारा की बात की, मैं आपको बधाई देता हूं। मैं आपको आने वाले समय के लिए अपनी और कांग्रेस पार्टी की पूरी की पूरी शक्ति देता हूं। 


नफरत डर का दूसरा रुप होता है, डर के बिना नफरत नहीं हो सकती। जिसको लोग नफरत कहते हैं, वो सचमुच में डर होता है। ये आपमें और उनमें फर्क है, ये नरेन्द्र मोदी जी और मुझमें फर्क है। मुझमें और आपमें नफरत इसलिए नहीं है क्योंकि हमारे अंदर डर नहीं है। वो अपना डर दिखा नहीं सकते हैं और डर को छुपाने के लिए वो नफरत दिखाते हैं और ये सब आर.एस.एस. के लोगों की बात है। मैं उनसे कहना चाहता हूं, डरो मत, इस देश में किसी को डरने की जरुरत नहीं है और ये रास्ता गांधी जी ने दिखाया था। गांधी जी के सामने दुनिया की सुपर पावर खड़ी थी, कोई हवाई जहाज नहीं, कोई गाड़ी नहीं, कोई धन नहीं। ठीक है, चश्मे की जरुरत थी, तो चश्मा पहनते थे, छोटी सी घड़ी थी। अंग्रेजों के सामने खड़े होकर अंग्रेजों को हरा दिया, ये है कांग्रेस पार्टी, ये है सेवादल।

 

अभी मुझे बताया गया, बड़ी दिलचस्प बात है, उसी समय अंग्रेजों ने सेवादल को बैन किया। किस वर्ष में बैन किया? 1927 में अंग्रेजों ने सेवादल को बैन किया, कहा, हिंदुस्तान में संगठन नहीं हो सकता है, इसको खत्म करो। जैसे मोदी जी कहते हैं कांग्रेस मुक्त भारत, वैसे अंग्रेजों ने कहा सेवादल मुक्त भारत। 

आर.एस.एस. को बैन नहीं किया अंग्रेजों ने, मगर सेवादल को बैन किया और गांधी जी सालों तक जेलों में रहे और हमारे नेताओं की लिस्ट निकालो- महात्मा गांधी जी, सरदार पटेल जी, अंबेडकर जी, आजाद जी, सुभाष चन्द्र बोस जी, सबकी लिस्ट निकालो, उनके सामने लिखा है-  15 साल जेल, 10 साल जेल, किसी ने अंग्रेजों से माफी नहीं मांगी। इनमें से एक व्यक्ति ने अंग्रेजों के सामने हाथ जोडकर माफी नहीं मांगी। सावरकर जी ने एक के बाद एक, 9 बार अंग्रेजों से माफी मांगी, क्योंकि उनमें डर था, उस डर को गांधी जी ने मिटाया। सावरकर जी डर को नहीं मिटा पाए, इसलिए नफरत बाहर निकली, गांधी जी ने डर को मिटाया, इसलिए प्यार बाहर निकला। तो आपको यही करना है, डरने की कोई जरुरत नहीं, हम हराएंगे इनको 2019 में हराएंगे, हम मिटाएंगे नहीं, हम इनको खत्म नहीं करेंगे, इनका कत्ल नहीं करेंगे, इनको मारेंगे नहीं, मगर हराएंगे और प्यार से हराएंगे। 


आप सबका मैं फिर से धन्यवाद करना चाहता हूं और मैं देश के कोने-कोने में आपकी सफेद वर्दी, सफेद टोपी देखना चाहता हूं। जहाँ आंधी हो, तूफान हो, हिंसा हो, वहाँ मैं सेवादल को देखना चाहता हूं और आपके प्यार को देखना चाहता हूं। 


आप सबको धन्यवाद, नमस्कार। 

जय हिंद।   

         

Sd/-

(Vineet Punia)

Secretary

Communication Deptt. 

AICC