Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addressed a public gathering in Pokhran, Rajasthan

Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addressed a public gathering in Pokhran, Rajasthan



ALL INDIA CONGRESS COMMITTEE

24, AKBAR ROAD, NEW DELHI

COMMUNICATION DEPARTMENT

Highlights on CP Speech: 26 November, 2018


Congress President Shri Rahul Gandhi addresses a public gathering in Pokhran, Rajasthan.


श्री राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अविनाश पांडे जी, अशोक गहलोत जी, राजीव फाखिर जी, विवेक बंसल जी, केशवचंद यादव जी, कांग्रेस के हमारे सब कार्यकर्ता, यूथ कांग्रेस, एनएसयूआई, महिला कांग्रेस के हमारे सब साथी, भाईयों और बहनों, प्रेस के हमारे मित्रों, आप सबका यहाँ बहुत-बहुत स्वागत। 


रामदेव जी की धरती पर आकर आज मुझे बहुत खुशी हो रही है। उन्होंने सबको जोड़ने की कोशिश की और अगर ये देश बना है, तो उसी विचारधारा पर बना है। सचिन जी ने अभी बोला, हम सब एक हैं और प्रगति तब ही होगी, जब सब लोग एकसाथ मिलकर आगे बढ़ेंगे, यही कांग्रेस पार्टी की विचारधारा है और यही चुनाव में लड़ाई है, यह विचारधारा की लड़ाई है। एक तरफ बीजेपी के लोग हैं, दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी। जहाँ भी वो जाते हैं, बांटने का काम करते हैं, नफरत फैलाने का काम करते हैं और जहाँ भी कांग्रेस पार्टी जाती है, चाहे हमारे अशोक गहलोत जी हों, सचिन पायलट जी हों, चाहे मैं हूं, कांग्रेस पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता हो, जहाँ भी हम लोग जाते हैं, भाईचारे की बात करते हैं, लोगों को जोड़ने की बात करते हैं, देश को एकसाथ आगे ले जाने की बात करते हैं। 


मैं उदाहरण देना चाहता हूं, छोटा सा उदाहरण देना चाहता हूं। यह पोखरण की धरती है, यहाँ पर हिंदुस्तान ने न्यूक्लियर टेस्ट किया था, दो बार किया, बहुत एतिहासिक जगह है। 15 अगस्त को लाल किले से प्रधानमंत्री जी का भाषण चल रहा था, मैं वहाँ बैठा था, उनका भाषण हो रहा था। भाषण में हमारे प्रधानमंत्री कहते हैं – भाईयों और बहनों, मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले हाथी सो रहा था, मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले ये देश सो रहा था। अब देखिए, हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री लाल किले से कहता है कि मेरे प्रधानमंत्री बनने से पहले देश सो रहा था। अपमान करते हैं, देश की जनता का, किसानों का, मजदूरों का, जिन लोगों ने पोखरण में न्यूक्लियर टेस्ट किया, उनका अपमान प्रधानमंत्री करते हैं। उनको ये भी नहीं मालूम कि इस देश को एक व्यक्ति नहीं चलाता है, इस देश को कोई राजनैतिक पार्टी नहीं चलाती है, ना बीजेपी, ना कांग्रेस, अगर हमारा देश यहाँ तक पहुंचा है, तो हिंदुस्तान के किसान ने, मजदूर ने, युवाओं ने, माताओं-बहनों ने, राजस्थान के युवाओं ने मिलकर इस देश को यहाँ तक पहुंचाया है। मतलब आपका खून, आपका पसीना, आपकी मेहनत लगी है और प्रधानमंत्री आपके माता-पिता का अपमान करते हैं, जब वे कहते है कि भईया, आपके माता-पिता, आपके दादा-दादी, उन्होंने कुछ नहीं किया, वो बस बैठे रहे थे, नरेन्द्र मोदी के आने से पहले हिंदुस्तान की जनता ने कुछ नहीं किया, ये उनकी सोच है। 


प्रधानमंत्री जी पहले आते थे, भ्रष्टाचार की बात करते थे, रोजगार की बात करते थे, किसानों को सही दाम देने की बात करते थे। हर भाषण में प्रधानमंत्री जी ये तीन बातें कहते थे, आपको याद होगा, प्रधानमंत्री भाषण में कहते थे – 56 इंच की छाती है, मुझे प्रधानमंत्री मत बनाओ, मुझे देश का चौकीदार बनाओ। जिस जनता का लाल किले से नरेन्द्र मोदी जी ने अपमान किया, जिनके माता-पिता का लाल किले से नरेन्द्र मोदी जी ने अपमान किया, उन्हीं लोगों ने नरेन्द्र मोदी जी पर पहले भरोसा किया था। उन्हीं लोगों ने देश की चाबी नरेन्द्र मोदी जी के हाथ में दी थी। जैसे ही नरेन्द्र मोदी जी प्रधानमंत्री बने, वैसे ही वो सब के सब वायदे भूल गए। उदाहरण देना चाहता हूं। राजस्थान के आप किसी भी युवा से पूछ लो, क्या करते होकिसी भी गांव में चले जाओ, जैसलमेर, जोधपुर, कहीं भी चले जाओ और युवाओं से पूछो- क्या करते हो(हाथ का इशारा करते हुए गांधी जी ने कहा)पहले ऐसे हाथ हिलाते हैं, फिर कहते हैं - कुछ नहीं करते हैं। किसान के पास जाईए और राजस्थान के किसी भी किसान से पूछिए, क्या आपको सही दाम मिलता हैक्या आपको बोनस मिलता हैक्या नरेन्द्र मोदी जी ने आपका कर्जा माफ किया? राजस्थान का हर किसान हिंदुस्तान का हर किसान कहेगा, भईया, हमारा तो कर्जा माफ नहीं हुआ। कुछ दिन पहले चार युवाओं ने आत्महत्या की है, शायद पहली बार चार युवाओं ने मिलकर आत्महत्या की है, क्यों – कारण, नरेन्द्र मोदी जी ने रोजगार नहीं दिया। 


माताओं-बहनों आपको नरेन्द्र मोदी जी ने बैंक के सामने खड़ा किया था। आपको याद हैयाद है ना? आपसे कहा था – कालेधन के खिलाफ लड़ाई है। अजीब सी लड़ाई, बैंक के सामने हिंदुस्तान के सब गरीब लोग, सब ईमानदार लोग, किसान, मजदूर, छोटे दुकानदार, युवा सब के सब खड़े थे, दूसरी तरफ बैंक के पीछे वाले दरवाजे से अंदर, एसी में सूट-बूट वाले चोर अपना करोड़ों रुपया कालाधन सफेद में बदल रहे हैं। जनता देख रही है, कालेधन के खिलाफ लड़ाई चल रही है। कुछ ही महीने बाद नीरव मोदी, मेहुल चोकसी जिनको प्रधानमंत्री मेहुल भाई, नीरव भाई कहते हैं, 35,000 करोड़ रुपए लेकर देश से भाग गया। मतलब एक मनरेगा का पैसा, एक साल का पैसा, एक व्यक्ति उठाकर भाग गया। ललित मोदी ने राजस्थान के मुख्यमंत्री के बेटे को 10 करोड़ रुपए दिया है, पूरा हिंदुस्तान जानता है। विजय माल्या 10,000 करोड़ रुपए लेकर भाग गया, जाने से पहले हिंदुस्तान के फाईनेंस मिनिस्टर से मिलता है, कहता है - मैं जा रहा हूं लंदन। अरुण जेटली जी कहते हैं, हाँ भईया, जाईए। कालेधन के खिलाफ लड़ाई, देश की जनता की जेब में से हजारों-करोड़ रुपए निकाला और सीधा मेहुल चोकसी, नीरव मोदी, ललित मोदी की जेब में डाला। ये है नरेन्द्र मोदी जी की कालेधन के खिलाफ लड़ाई। 


चुनाव से पहले नरेन्द्र मोदी जी ने कहा था- स्विस बैंक अकाउंट से पैसा वापस लाएंगे, पता लगता है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे का नाम पनामा पेपर में निकलता है। पनामा में उसने हिंदुस्तान से पैसा चोरी करके पनामा के बैंक अकाउंट में डाला। अब देखिए, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, ललित मोदी, पनामा पेपर्स ये सब हुआ। आपने प्रधानमंत्री के भाषण सुने, मगर एक भाषण में प्रधानमंत्री ने ये नहीं कहा कि नीरव मोदी को, मेहुल चोकसी को मैं पकड़ कर वापस लाऊँगा। एक भाषण में उन्होंने नहीं कहा कि रमन सिंह के बेटे को मैं जेल में डालूंगा, यहाँ आकर एक भाषण में नहीं कहा कि वसुंधरा राजे जी के बेटे को मैं जेल में डालूंगा। कैसा चौकीदारकहा था -चौकीदार बनूंगा, मगर आपसे ये नहीं बताया, किसका चौकीदार बनेंगे। आपने सोचा हमारा बनेंगे, वो बन गए अनिल अंबानी के चौकीदार। 


सेना को लड़ाकू जहाज की जरुरत थी, यूपीए सरकार ने वायु सेना से कहा देखिए, आपको जो भी हवाई जहाज चाहिए, दुनिया का सबसे बेहतर हवाई जहाज लीजिए, आप जाकर चुनिए और जितने भी पैसे आपको चाहिए, हम आपको दे देंगे। हिंदुस्तान की वायुसेना की बात है, देश की रक्षा की बात है, वायुसेना के लोग आए, कहते हैं, राफेल हवाई जहाज फ्रांस हवाई जहाज है, 526 करोड़ रुपए एक हवाई जहाज है, हम फ्रांस से खरीदना चाहते हैं। डॉ. मनमोहन सिंह जी ने कहा देखिए, दो चीजें हैं, एक हवाई जहाज हिंदुस्तान में बगेना और दूसरा हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड, सरकारी कंपनी बनाएगी। एयरफोर्स के लोगों ने कहा, हाँ, बिल्कुल सही बात है। हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने 70 साल से हवाई जहाज बनाया है, कारगिल में पाकिस्तानी सेना पर बम गिराए गए थे, HAL ने हवाई जहाज बनाए थे। बात मंजूर। मोदी जी प्रधानमंत्री बनते हैं, भाईयों और बहनों, वे अनिल अंबानी के फ्रांस साथ जाते हैं। पूरे के पूरे कॉन्ट्रैक्ट को बदल देते हैं, 526 करोड़ रुपए का हवाई जहाज नरेन्द्र मोदी जी 1600 करोड़ रुपए मे खरीदवाते हैं और सुनिए, HAL को परे करते हैं, अनिल अंबानी ने हवाई जहाज जिंदगी में नहीं बनाया। 10 दिन पहले कंपनी खोली थी, 45,000 करोड़ रुपए कर्जा है उस पर। HAL ने 3,000 करोड़ रुपए हिंदुस्तान की सरकार को दिया है। नरेन्द्र मोदी जी ने फ्रांस के राष्ट्रपति से कहा हवाई जहाज हिंदुस्तान में नहीं बनेगा, फ्रांस में बनेगा, 126 की जरुरत नहीं, 36 लेंगे और 1600 करोड़ रुपए में लेंगे। लेकिन, अगर आपको को हिंदुस्तान हवाई जहाज बेचना है तो एक बात करिए, HAL को हटाईए, अनिल अंबानी को डालिए। ये बात फ्रांस के राष्ट्रपति ने दुनिया की मीडिया के सामने बोली है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी ने हमें साफ बता दिया था कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट देना है, नहीं तो बात नहीं बनने वाली और हमने जो नरेन्द्र मोदी जी ने कहा, वो कर दिया। भाईयों और बहनों पहले नारा चलता था, मोदी जी कहते थे- अच्छे दिन - जनता कहती थी, आएंगे। मोदी जी कहते थे अच्छे दिन- जनता कहती था, आएंगे। अब नया नारा चला है, चौकीदार (जनता ने कहा-चोर है)। चौकीदार (जनता ने कहा-चोर है)। चौकीदार (जनता ने कहा-चोर है)।  


माताओं साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए नरेन्द्र मोदी जी ने 15 लोगों का माफ किया है। मैं उनके ऑफिस में गया, एक बार गया हूं, कांग्रेस के कार्यकर्ता पूछेंगे, राहुल गांधी क्यों गए, मैं बताता हूं। मैंने नरेन्द्र मोदी जी से कहा देखिए, आपने 15 लोगों का कर्जा माफ किया है, हिंदुस्तान के करोडों किसानों का भी कर्जा माफ कीजिए। आपने मनरेगा छीन लिया, बोनस छीन लिया, सही दाम नहीं दिलवाते हो, पूरे देश में किसान रो रहा है, एक काम कीजिए, हिंदुस्तान के किसान का कर्जा माफ कीजिए। अनिल अंबानी को आपने बीमा का कॉन्ट्रैक्ट दे दिया, किसान अपना पैसा डालता है, नुकसान होता है, ओला गिरता है, बारीश-आँधी आती है, सूखा पड़ता है, उसका पैसा आप वापस नहीं देते हो। अनिल अंबानी को उसका पैसा देते हो। कृपा करके किसान का कर्जा माफ कीजिए, नरेन्द्र मोदी जी ने मेरे सवाल का जवाब तक नहीं दिया, चुप हो गए। तो अब मैं उनको जवाब देना चाहता हूं और राजस्थान के किसानों आप अच्छी तरह सुनिए। आप यहाँ कांग्रेस पार्टी को जिताने जा रहे हो और कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के बाद 10 दिन के अंदर राजस्थान के किसान का कांग्रेस पार्टी कर्जा माफ कर देगी। सीधी सी बात है और राजस्थान के किसानों मैं आपको बता रहा हूं, दुनिया कि कोई भी शक्ति इस बात को नहीं बदल सकती है, राजस्थान के किसान का कर्जा माफ 10 दिन के अंदर होगा। 


मैं आपके यहाँ झूठे वायदे करने नहीं आया हूं, आप मेरी बात मत मानो, यही बात मैंने पंजाब में की थी, यही बात मैंने कर्नाटक में की थी। आप कर्नाटक फोन लगाओ, पंजाब फोन लगाओ, सवाल पूछो- भईया राहुल गांधी आया था, कहा था किसान का कर्जा माफ किया, कांग्रेस पार्टी ने पंजाब में, कर्नाटक में क्या ये सच है या झूठ, आपको जवाब मिल जाएगा। किसी भी कर्नाटक के, पंजाब के किसान से पूछो, जवाब मिल जाएगा। मैं आपको यहाँ आकर 15 लाख की बात नहीं करुंगा, मैं आपको दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देने की बात नहीं करुंगा, जो आप मेरे स्टेज से सुन लोगे, जो आप सचिन या अशोक गहलोत जी के मुँह से सुन लोगे, वो हम करके दिखा देंगे। हमारा जो मुख्यमंत्री बनेगा, राजस्थान के युवाओं आप सुनो, जो मुख्यमंत्री बनेगा कांग्रेस पार्टी का राजस्थान में, दिन में 24 घंटे होते हैं, 18 घंटे हमारा मुख्यमंत्री राजस्थान के युवाओं को रोजगार देने में लगाएगा। 


मोदी जी ने 15 लोगों के साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए माफ किए हैं। हम करोड़ों युवाओं को लाखों रुपए का बैंक लोन दिलवाएंगे। राजस्थान में चुन-चुन कर हम युवाओं को बैंक लोन देंगे, कहेंगे देखो- ये लो एक लाख रुपए, पाँच लाख रुपए, दस लाख रुपए का बैंक लोन लो और जाओ युवाओं को रोजगार देने का काम शुरु करो, फैक्ट्री खोलो, छोटा सा बिजनेस खोलो। (जनता की तरफ इशारा करके श्री गांधी ने पूछा) भईया, आपका नाम क्या है, (अजय व्यास जी), अजय व्यास जी देखो, मैं आपको सीधी बात समझाता हूं, आपने नीरव मोदी का नाम सुना आपने? सुना है ना, 35,000 करोड़ रुपए ले गया है, माताओं-बहनों का पैसा, व्यास जी मुझे एक बात बताओ, नीरव मोदी ने 35,000 करोड़ रुपए लिए, हिंदुस्तान के, राजस्थान के कितने युवाओं को उन्होंने रोजगार दियाएक को भी नहीं दिया, अब व्यास जी आप 35,000 करोड़ रुपए छोड़ो, अगर आपको हिंदुस्तान के बैंक का 15 लाख रुपए का लोन दे दिया जाए, आप नीरव मोदी से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिलवा देंगे। ये हिंदुस्तान की सच्चाई है। आपकी मुख्यमंत्री आती हैं, भाषण देती हैं, कहती हैं- स्कूल के बारे में बोलती हैं, विज्ञापन निकलता है, कहती हैं- भरतपुर में एक स्कूल है, मॉडल स्कूल है, उसमें पीने का पानी है, पंखे हैं, फर्नीचर है, प्ले ग्राउंड है, टीचर हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्कूल देखें हैं पूरे राजस्थान के, जर्नलिस्ट भी गए, पत्रकार गए और पता लगा कि जिस स्कूल के बारे में आपकी मुख्यमंत्री बोल रही थी, उसमें ना पंखा है, ना पानी, ना टीचर है, ना फर्नीचर, कुछ नहीं, खाली और यही सच्चाई है। एक के बाद एक वसुंधरा जी बोलती रहती हैं, मगर होता है भ्रष्टाचार। मैंने वसुंधरा जी के बेटे की बात की, 10 करोड़ रुपए ललित मोदी ने उसको दिया, 45,000 करोड़ रुपए का माईनिंग स्कैम, 650 माईन, बिना ऑक्शन के अपने मित्रों को दे दिया। 


गौरव यात्रा में आपका पैसा प्रयोग किया, यात्रा चल रही है बीजेपी की, मुख्यमंत्री की राजनैतिक यात्रा चल रही है और उसमें आपका पैसा इस्तेमाल हो रहा है। तो ये सच्चाई है राजस्थान की। हमारी पिछली सरकार थी, हमने राजस्थान के सब लोगों को मुफ्त में दवाई दिलवाई थी। हमारी सरकार बनने पर आपका जो पैसा है देखिए, 15-20 लोगों के हाथ में नहीं जाएगा, आपका पैसा राजस्थान की जनता को फ्री में दवाई देने में जाएगा। वो योजना हम फिर से चालू करेंगे, मगर वहाँ नहीं रुकेंगे, सरकारी स्कूल, सरकारी कॉलेज, सरकारी यूनिवर्सिटी में आपका पैसा डालेंगे। एक के बाद एक राजस्थान में हाई क्वालिटी के यूनिवर्सिटी, कॉलेज खोलेंगे, उसमें आप अपने बेटों को, बेटियों को भेजोगे जहाँ उन्हें कम से कम पैसे में अच्छी शिक्षा मिलेगी। आजकल सारे के सारे अस्पताल प्राईवेटाईज कर दिए गए हैं, एमआरआई टेस्ट, एक्सरे की जरुरत पड़ती है, हजारों रुपए पहले निकाल कर दो, ऑपरेशन की जरुरत पड़ती है, तो लाखों रुपए प्राईवेट अस्पताल में दो, उन्हीं लोगों की जेब में जाता है। तो हम आपका पैसा सरकारी अस्पतालों में डालेंगे, मुफ्त दवाई दिलवाएंगे आपको और आपको लगेगा कि हां, किसानों की, युवाओं की, गरीब जनता की सरकार है, 5-10 उद्योगपतियो की, ललित मोदी की सरकार नहीं है। ये हम आपके लिए करके दिखाएंगे। 


आपने इतना प्यार दिया, दूर-दूर से आप आए, आपने मेरी बात सुनी, दिल से आपका धन्यवाद करना चाहता हूं और जब भी मेरी जरुरत हो, देखिए गहलोत जी हैं, सचिन पायलट जी हैं, राजस्थान, कांग्रेस पार्टी के नेता हैं, मगर आप एक बात मत भूलो, आपका एक सिपाही दिल्ली में भी बैठा है, उसका नाम राहुल गांधी है। जब भी मेरी जरुरत हो, मुझे बुलाईए और बताईए क्या करना है, मैं पूरे दिल से करने की कोशिश करुंगा। मगर भाईयों और बहनों, अगर आप मेरे मुँह से झूठ सुनना चाहते हो तो मैं झूठ नहीं बोलूंगा आपसे। मैं आपसे झूठे, खोखले वायदे नहीं करने जा रहा हूं, क्योंकि मैं आपका आदर करता हूं, मैं जानता हूं कि आपके बीच में और मेरे बीच में सिर्फ सच्चाई का रिश्ता होना चाहिए। मैं जानता हूं कि अगर आप मेरे ऊपर भरोसा करते हो तो मेरे शब्दों का कुछ मतलब होना चाहिए, शब्दों का वजन होना चाहिए। इसलिए मैं आपसे झूठे वायदे नहीं करना चाहता हूं। कभी-कभी मैं आपको सीधा बोल दूंगा, भईया, ये नहीं किया जा सकता, थोड़ा आपको बुरा लगेगा, मगर मैं आपको स्टेज से भाषण में सिर्फ सच बोलूंगा। सच्चाई से बहुत काम किया जा सकता है, सच्चाई से किसानों का कर्जा माफ किया जा सकता है। यूपीए सरकार ने करके दिखाया है, सच्चाई से मनरेगा जैसी योजनाएं बनाई जा सकती हैं, झूठ खोखले होते हैं। भाईयों और बहनों, राजस्थान का चुनाव है, दबा कर कांग्रेस पार्टी को वोट दीजिए। 


कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं आप शेर हो, बब्बर शेर हो, आपने पिछले साल यहाँ लाठी खाई, आपको मारा गया, कुचला गया, दबाया गया, आप शेर हो, पोलिंग बूथ पर आप लड़ना, मगर एक बात आप आर.एस.एस.- बीजेपी के सिपाही नहीं हो, आप कांग्रेस पार्टी के सिपाही हो, आप प्यार से लड़ोगे, आप तमीज से लड़ोगे, चाहे प्रधानमंत्री की बात हो, चाहे मुख्यमंत्री की बात हो, आप उनके बारे में तमीज से बोलोगो, गलत शब्द का प्रयोग नहीं करोगे। गाली देना, गलत शब्द प्रयोग करना उनका काम है, हमारा काम नहीं है भाईयों और बहनों। 


आप सबका दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद। नमस्कार, जय हिंद। 

राम-राम साहेब।

 


Sd/-

(Vineet Punia)

Secretary

Communication Deptt.