Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addresses the conclusion of Yuva Kranti Yatra at Talkatora Stadium

Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addresses the conclusion of Yuva Kranti Yatra at Talkatora Stadium


ALL INDIA CONGRESS COMMITTEE

24, AKBAR ROAD, NEW DELHI

COMMUNICATION DEPARTMENT


Highlights of the CP Speech: January 30, 2019


Congress President Shri Rahul Gandhi addressed the concluding session of the Indian Youth Congress’s nationwide public outreach campaign 'Yuva Kranti Yatra' at Talkatora Stadium, New Delhi, today.


कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने अपने संबोधन में कहा कि साढ़े चार साल पहले नरेन्द्र मोदी जी ने अपने कैंपेन में बोला था कि मैं हिंदुस्तान से कांग्रेस पार्टी की विचारधारा, कांग्रेस पार्टी का संगठन मिटाना चाहता हूँ, आपको याद है? वो जहाँ भी जाते थे, कहते थे, मैं देश का पीएम नहीं बनना चाहता हूँ, मैं देश का चौकीदार बनना चाहता हूँ। मुझे पीएम मत बनाईए, चौकीदार (युवाओं ने कहा चौकीदार चोर है) बनाईए। भईया, वो क्या लिखा है, वहाँ पर ठीक से दिख नहीं रहा है (एक फोटो की तरफ इशारा करते हुए), (युवाओं ने कहा कि चौकीदार चोर है), चौकीदार, (युवाओं ने फिर कहा कि चौकीदार चोर है) और साढ़े चार साल में यूथ कांग्रेस ने, एनएसयूआई ने, कांग्रेस पार्टी ने, महिला कांग्रेस ने देश की जनता ने पूरे देश को समझा दिया है कि आज नरेन्द्र मोदी जी, देश के चौकीदार (युवाओं ने फिर कहा कि चौकीदार चोर है)। मोदी जी ने कई वायदे किए थे, एक वायदा किया था युवाओं से, दो करोड़ युवाओं को हर साल, पाँच साल में नहीं, हर साल दो करोड़ युवाओं को 56 इंच की छाती वाला प्रधानमंत्री रोजगार देगा। 


आपको मैं यहाँ पर भी बधाई देना चाहता हूँ और आप करोड़ो युवाओं से मिले। क्या हिंदुस्तान के युवाओं ने आपको कहा कि देश में चौकीदार ने हमें हर साल दो करोड़ रोजगार दिए है? जहाँ भी आप गए, आपने पूछा होगा, नरेन्द्र मोदी जी ने रोजगार दिया, आपको जवाब मिलता होगा, हमें रोजगार नहीं मिला। उल्टा फ्रांस का राष्ट्रपति कहता है कि नरेन्द्र मोदी जी ने साफ बता दिया था कि अगर दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील, राफेल हवाई जहाज की डील में फ्रांस की सरकार को कॉन्ट्रैक्ट चाहिए, तो उन्हें अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट देना ही पड़ेगा। एचएएल कंपनी से दुनिया का सबसे बड़ा डिफेंस कॉन्ट्रैक्ट छीना। कल मैं पर्रिकर जी से मिला। 


पर्रिकर जी ने स्वयं कहा था कि डील बदलते समय प्रधानमंत्री ने हिंदुस्तान के डिफेंस मिनिस्टर से नहीं पूछा। पूरा का पूरा प्रोसीजर तोड़ दिया। कर्नाटक के युवाओं से, ओडिशा के युवाओं से सीधा-डायरेक्ट रोजगार छीना क्योंकि नरेन्द्र मोदी जी को अनिल अंबानी का 30 हजार करोड़ रुपए का फायदा कराना है। आपने देखा होगा 56 इंच की छाती वाले प्रधानमंत्री लोकसभा में डेढ़ घंटे का भाषण देते हैं। राफेल पर हमने 3-4 सवाल पूछे, बड़े सवाल नहीं थे, आपने एचएएल को क्यों परे किया? आपने 30 हजार करोड़ रुपए अनिल अंबानी की कंपनी को क्यों दिलवाए? आपने 45 हजार करोड़ रुपए कर्जा अनिल अंबानी की कंपनियों को क्यों दिया? आपने प्रोसीजर फॉलो नहीं किया और चौकीदार कभी यों देखे, कभी इधर देखे, कभी उधर देखे, कभी यहाँ देखे। आँख में आँख नहीं मिला पाया चौकीदार। हमारे प्रेस के मित्र आए हुए हैं, और हम समझते हैं कि उनके ऊपर दवाब है।, देखो वो हंस रही है (वहाँ पर खड़ी एक पत्रकार की ओर इशारा करते हुए)। मगर आप अच्छी तरह सुन लीजिए, सच्चाई को बदला नहीं जा सकता है और आहिस्ते-आहिस्ते-आहिस्ते राफेल की सच्चाई हिंदुस्तान की जनता के सामने आ रही है। 


कभी एक तरफ से फ्रांस का राष्ट्रपति कहता है, नरेन्द्र मोदी जी ने हमें कहा था। डिफेंस मिनिस्टर कहता है, हमसे नहीं पूछा। सीबीआई चीफ को डेढ़ बजे रात को हटाया जाता है। सुप्रीम कोर्ट कहता है, उसको वापस लाओ। भाईयों और बहनों, सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के एक-दो घंटे बाद मुझे खरगे जी का फोन आता है, कहते हैं, राहुल जी एक घंटे के अंदर सीबीआई वाली कमेटी बुलानी है। आज शाम एक दम नरेन्द्र मोदी जी चाहते हैं कि चर्चा हो और सीबीआई के डायरेक्टर को हटा दिया जाए। मतलब, एक के बाद एक सबूत सामने आते जा रहे हैं। 


पहले बोला हिंदुस्तान की जनता को राफेल हवाई जहाज के दाम नहीं बताए जा सकते। निर्मला सीतारमण जी कहती हैं कि हिंदुस्तान की जनता को राफेल कॉन्ट्रैक्ट का, हवाई जहाज का दाम नहीं बता सकती, मगर पता लगता है कि अनिल अंबानी जी ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में लिखा हुआ है। पता लगता है कि दसॉल्ट कंपनी ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में लिखा हुआ है कि भईया, इस दाम के लिए हमने हिंदुस्तान को लड़ाकू जहाज बेचा है। पार्लियामेंट में निर्मला सीतारमण कहती हैं, सीक्रेट कॉन्ट्रैक्ट है नहीं बता सकते और दसॉल्ट कंपनी लिख रही है कि भईया हमने तो 1,600 करोड़ में बेचा है। और घबराईए मत प्रेस के मित्रों, सच्चाई को कोई रोक नहीं सकता और आप देखना सच्चाई हिंदुस्तान की जनता के सामने क्लियर कट, राफेल हवाई जहाज की सच्चाई साफ-साफ दूध का दूध, पानी का पानी सबको दिखाई देगा। तो आपको पता लग जाएगा, मैं आपको बताता हूँ क्यों, आपको समझना है, क्यों। ये सच्चाई है। ये सच्चाई कहाँ से आ रही है? ये सच्चाई हिंदुस्तान की सरकार के अंदर से आ रही है। डिफेंस मिनिस्ट्री के सब लोगों ने चाहे वो जनरल्स हों, चाहे वो नेगोशिएटर्स हों, चाहे वो डिफेंस मिनिस्टर हो, पूरी सरकार का ढांचा जो है, उसको नरेन्द्र मोदी जी ने बाईपास किया है। 


हिंदुस्तान की वायुसेना ने 8-10 साल का लंबा डिटेल्ड नेगोसिएशन किया। आहिस्ते- आहिस्ते- आहिस्ते जहाज का दाम नीचे गिराया। 526 करोड़ पर ले आए और पूरे के पूरे नेगोसिएशन की धज्जियाँ उड़ा दी नरेन्द्र मोदी जी ने, क्योंकि अनिल अंबानी को मदद करना था और अब क्या हो रहा है, सुनिए, अब वो जो सच्चाई है, उसको नरेन्द्र मोदी जी छुपाने की कोशिश कर रहे हैं। 


एक तरफ पर्रिकर जी कैबिनेट मीटिंग में कहते हैं, मेरे पास राफेल हवाई जहाज की फाइल पड़ी हुई है। मुझे गोवा से कोई नहीं हटा सकता। कैबिनेट मीटिंग के बाद उनका मंत्री जर्नलिस्ट से पहले फोन पर बात करता है। आपने टेप सुनी, पूरे हिंदुस्तान ने टेप सुनी। नरेन्द्र मोदी जी उसमें पर्रिकर जी को खुश करने की कोशिश करते हैं। दूसरी तरफ सीबीआई डायरेक्टर से मामला उठता है कि भईया, मैं तो इंक्वायरी करूँगा, नरेन्द्र मोदी जी उधर देखते हैं, और कहते हैं, भईया, इसको चुप कराओ।

 

दूसरी तरफ एयरफोर्स के अंदर से आवाज आ रही है कि हमारे सब के सब लोगों को बाईपास किया गया। उधर ब्यूरोक्रेट्स कह रहे हैं कि नरेन्द्र मोदी जी ने अनिल अंबानी को दिया। हिंदुस्तान से 30 हजार करोड़ रुपए चोरी किए, मतलब, अंदर से आवाज आ रही है और इस आवाज को कोई शांत नहीं कर सकता है। नरेन्द्र मोदी जी, मैं समझता हूँ कि रात को आपको नींद नहीं आ रही होगी। मैं जानता हूँ कि जब आप सोते हैं, रात को आपको अनिल अंबानी की फोटो दिखाई देती है। मैं जानता हूँ, जब आप सोते हैं आपको राफेल हवाई जहाज की फोटो दिखाई दे रही है। मैं जानता हूँ जब आप सोते हैं, आपको हिंदुस्तान के वायुसेना के शहीदों की फोटो दिखाई दे रही है। वो फोटो कांग्रेस पार्टी के युवाओं ने आपको दिखाई है। वो सपना आपको छोड़ने वाला नहीं है, कहीं भी नहीं जाने वाला है। पूरा हिंदुस्तान जानता है कि आपने हिंदुस्तान की वायुसेना के हितों को बेचा है। पूरा हिंदुस्तान जानता है कि हमारे जो एयरफोर्स के पायलेट्स हैं, उनके भविष्य से आपने 30 हजार करोड़ रुपए छीनकर अनिल अंबानी को दिए हैं।

 

पूरा देश जानता है कि 30 हजार करोड़ रुपए देकर मेहुल चोकसी को आप मेहुल भाई कहते हो। पूरा देश जानता है कि नीरव मोदी को आप नीरव भाई कहते हो। पूरा देश जानता है कि आप अनिल अंबानी को अनिल भाई कहते हो। ये किसी से छुपा नहीं है और पूरा देश जानता है कि पिछले पाँच सालों में आपने अपने 15 मित्रों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपया कर्जा माफ करके दिया है। 


यूथ कांग्रेस के युवा पूरे देश में जाते हैं, उनके सामने हिंदुस्तान का किसान हाथ जोड़कर कहता है, आप कांग्रेस के हो मगर नरेन्द्र मोदी को मैसेज दो, नरेन्द्र मोदी को बताओ कि किसान का कर्जा माफ करे, हमसे जीया नहीं जा रहा है, हमें भविष्य नहीं दिखाई दे रहा है। नरेन्द्र मोदी जी को कुछ सुनाई नहीं देता। लंबे भाषण दिए कि किसानों की मदद करुँगा, सही दाम दिलवाऊँगा, कुछ नहीं किया। हमें दो दिन लगे, उन्होंने साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए 15 लोगों का माफ किया, हमने साफ बोला मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ राजस्थान में 10 दिन में कर्जा माफ करेंगे। देखिए, कांग्रेस पार्टी का अपना इतिहास है, आपमें और भाजपा-आरएसएस में बहुत बड़ा फर्क है। आप सच्चाई को समझते हो और आप सच्चाई को लेकर काम करते हो। आप सच्चाई की रक्षा करते हो, वो झूठ की रक्षा करते हैं। यूथ कांग्रेस में उन्हीं लोगों को आगे बढ़ाया जाएगा, जो सच्चाई की रक्षा करेंगे। 

खैर, 10 दिन और मैं आपको बताता हूँ हम चुनाव जीते, हमारा चीफ मिनिस्टर चुना गया, गहलोत जी से कहा, बघेल जी से कहा, कमलनाथ जी से कहा कि देखिए, आप अब चीफ मिनिस्टर बने हैं, आपको मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान की जनता ने, युवाओं ने, किसानों ने बनाया है। आप अपने आप नहीं बने हैं, कांग्रेस पार्टी अपने आप चुनाव नहीं जीती है। किसी और शक्ति ने कांग्रेस पार्टी को जिताया है, वो शक्ति है, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान के अंदर जो आवाज है, उसने आपको जिताया है। हमने 10 दिन कहा था, आप इसको 10 दिन मत दीजिए, जल्दी से जल्दी कीजिए और मैं खुशी से कहता हूँ, दो स्टेट में एक दिन और तीसरे स्टेट में दो दिन में फैसला हो गया। भारत में पैसे की कोई कमी नहीं है, देश में पैसे की कोई कमी नहीं है। आप 30 हजार करोड़ रुपए अनिल अंबानी को देते हो। 45 हजार करोड़ रुपए उसने बैंक से ले रखे हैं। 


किसान कर्जामाफी की बात होती है। किसान से आप कहते हो, भईया, कर्जा वापस करो, भईया कर्जा वापस दो, अनिल अंबानी से क्यों नहीं कहते हो? आपने अनिल अंबानी को अपने ऑफिस में बुलाकर ये क्यों नहीं बोला कि 45 हजार करोड़ रुपए है, वापस दो। हम सिर्फ न्याय माँग रहे हैं। हमारे प्रेस के मित्र कहते हैं कि किसान की आदत बिगड़ जाएगी, किसान का कर्जा माफ किया तो आदत बिगड़ जाएगी, अच्छा भाई! तो अनिल अंबानी की आदत नहीं बिगड़ी क्या? माल्या की आदत नहीं बिगड़ी क्या? मेहुल चोकसी, नीरव मोदी की आदत नहीं बिगड़ी क्या? तो अगर आप उनकी आदत बिगाड़ रहे हो तो हम इनकी आदत बिगाड़ेंगे। अगर आप चाहते हो कि इनकी आदत न बिगड़े तो फिर उनकी आदत नहीं बिगाड़ो, क्योंकि हम दो हिंदुस्तान नहीं चाहते हैं। हमें एक हिंदुस्तान चाहिए, न्याय सबको मिलना चाहिए। अगर उनका कर्जा माफ होगा तो किसान का भी होगा। अगर इनका कर्जा माफ नही होगा तो उनका भी नहीं होगा, सही बोला? (युवाओं ने कहा सही कहा) 


देखिए नरेन्द्र मोदी जी कभी-कभी पैनिक में चले जाते हैं। आपने देखा होगा, कभी-कभी उनको डर लगता है, पैनिक में चले जाते हैं। उनको डर लगता है, पैनिक में चले जाते हैं, मैं बताता हूँ। 12 बजे, 8 बजे रात को। ये सुबह नहीं होता, शाम को होता है, 8 बजे रात को पैनिक हुआ। (मोदी जी ने कहा) भाईयों और बहनों, मैंने सोचा है कि 500 रुपए वाला नोट, 1,000 रुपए वाला नोट, अच्छा नहीं लगा, रद्दी कर रहा हूँ। भाईयों और बहनों, कालेधन के खिलाफ लड़ाई है, तुम सब लाईन में खड़े हो जाओ। उससे पहले बोला था, हिंदुस्तान को साफ करना है, तुम सब झाड़ू पकड़कर चलो शुरु करो। आप मुझे बताओ ये अनिल अंबानी को झाड़ू क्यों नहीं पकड़वाते हैं? ये अदानी को झाड़ू क्यों नहीं पकड़वाते हैं, ये बड़े-बड़े उद्योगपतियों को झाड़ू क्यों नहीं पकड़वाते हैं, ये सिर्फ किसान को, मजदूर को, किसान को, युवाओं को ही झाडू क्यों पकड़वाते हैं? झाडू सिर्फ इनको पकड़वाते हो, सही बात है ना। सबको खड़े कर दिया, छोटे दुकानदारों से कहते हैं भईया देखो, 21 वीं सदी है, अमेजन का जमाना है, फेसबुक का जमाना है, तुम्हें भूखा मरना पड़ेगा। स्मॉल एंड मीडियम बिजनेस रीढ़ की हड्डी है और मैं आपको यहाँ से कह रहा हूं, अच्छी तरह सुनिए, अंत में जब ये देश रोजगार के मामले में चीन से मुकाबला करेगा और चीन से आगे जाएगा तो हमारे स्मॉल एंड मीडियम बिजनेस के बल पर ही वो काम होगा। आपने उनको गब्बर सिंह टैक्स लेकर मार दिया, 5 अलग-अलग टैक्स लोगे। एक टैक्स, नहीं, एक टैक्स तो सिर्फ अनिल जी देंगे, बाकी सब 5-5 टैक्स देंगे। गब्बर सिंह टैक्स, जो थोड़ा सा पैसा बनता था वो भी छीन कर ले लिया, नीरव मोदी को दे दिया। रोजगार की धज्जियाँ उडा दी, खत्म कर दिया। कहते हैं  अच्छा ठीक है हाईटैक की दुनिया है, फ्राइंग पैन में पकौड़े बनाओ, फ्राइंग पैन भी हाईटेक होता है। अच्छा कहीं जाएंगे कहेंगे - बड़ी शानदार चीज देखी मैंने, वहाँ पर एक ढाबा था, वहाँ पर नाला था, उसके ऊपर उसने एक स्टील का बर्तन लगाया, उसमें पाइप डाला, गैस निकली, चुल्हा जलाया। वाह! मोदी जी, आप एक काम कीजिए, आप बहुत बोलते हैं, आप अपने सामने एक मैटल का बर्तन लगाओ, पाइप लगाओ, देखते हैं गैस निकलती है कि नहींमतलब, इतनी गैस मारते हैं, जहाँ जाते हैं कहते हैं - 2 करोड़ युवाओं को रोजगार, किसानों को सही दाम और हिंदुस्तान को इन्होंने पिछले 5 साल में सिर्फ बांटने का काम किया है। नोर्थ ईस्ट को जला दिया, जम्मू-कश्मीर में आग लगा दी, हरियाणा में लड़ाई करा दी, महाराष्ट्र में लड़ाई करा दी, तमिलनाडु में आग लगा दी, केरल में जाकर आग लगा रहे हैं और सोचते हैं कि हिंदुस्तान को बांटने से, तोड़ने से हिंदुस्तान की प्रगति होगी ! एक ही पार्टी, एक ही विचारधारा इस देश को जोड़ने का काम करती है, वो है- कांग्रेस पार्टी, यूथ कांग्रेस, एनएसयूआई, आप लोग। 


मैं समझता हूं कि पिछले 4 सालों में आपके साथ बहुत अच्छा हुआ है। बहुत अच्छा हुआ है, मेरे साथ भी अच्छा हुआ है, कांग्रेस पार्टी के साथ भी अच्छा हुआ है, आपके साथ भी अच्छा हुआ है कि 2014 में आप सबको, हम सबको सबक सिखाया कि देखो, तुम लोगों में घमंड आ गया है, तुम लोगों में एरोगेंस आ गई है, अब इस घमंड को मिटाओ, ह्यूमिलिटी लाओ, जनता से जुड़ो और फिर हम आपसे बात करेंगे और आपने ये किया। हम सबने ये किया, हमारे वरिष्ठ नेताओं ने किया और माहौल बदल गया है। आप देख सकते हैं, मोदी जी कहते थे, कांग्रेस मुक्त भारत, इधर देखते हैं कांग्रेस, उधर देखते हैं  कांग्रेस। मैं बताता हूं, लोकसभा में इनके 2-3 एमपी मिले, कहते हैं कि हम आपके साथ आना चाहते हैं। मतलब ऊल्टा, अब बीजेपी के अंदर कांग्रेस आ रही है। तो आपका जो संगठन है, ये इसकी शक्ति है, अब ये संगठन हर साल दस साल देश को विजन देता है। आर.एस.एस. - बीजेपी, आज से नहीं, इनकी जो सोच है सालों से देश को विजन नहीं दे पाई। कांग्रेस पार्टी की सोच किसी एक संगठन की सोच नहीं है, वो इस देश की सोच है, उसमें सब धर्मों के लोग शामिल हैं, सब जातियों के लोग शामिल हैं, सब प्रदेशों के लोग शामिल है, सब के सब महिला-पुरुष, वो एक आवाज चालू होती है, पहले अहिस्ता-अहिस्ता चालू होती है, फिर अहिस्ता-अहिस्ता बढ़ने लगती है और फिर वो आवाज देश को विजन देती है और देश को कहती है अब काफी टाईम जाया हो गया है, हमने शाइनिंग इंडिया सुन लिया, अब हमने मन बना लिया है कि इनको परे करना है, अब हम कांग्रेस पार्टी से चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी हमें मिलकर एक विजन दे, एक रास्ता दिखाए। ये समय आ गया है और उस विजन का। उस रास्ते का, उसमें 2-3 और कदम है, पर हमने एक कदम पर निर्णय ले लिया है। सफेद क्रांति दी थी, गुजरात में शुरु हुई, पूरे देश में फैली, हिंदुस्तान दूध का सबसे बड़ा प्रोड्यूसर बना, महिलाओं को फायदा हुआ, अलग-अलग बिजनेस बने। एग्रीकल्चर का सिस्टम धंसा हुआ था, ग्रीन रेवोलुशन की आवाज उठी, पूरा देश एक हुआ, ग्रीन रेवोलुशन हुआ, देश बदला। उसके बाद बैंक नेशनालाइजेशन, उसके बाद लिब्रलाइजेशन, डॉ मनमोहन सिंह जी ने पहली बार 1991 में किया। उसके बाद राईट बेस पेराडाईम, मनरेगा से मिनिमन वेज, राईट टू एजूकेशन, राईट टू इनफोर्मेशन, राईट टू फूड, ये पूरा प्लैटफार्म दिया, इकॉनमी को 9 प्रतिशत पर ले गए। अब एक नया समय, एक नए विजन की जरुरत आ गई है, समय आ गया है। अब बीजेपी क्या कर रही है - बीजेपी वो घोटाला चोरी तो कर रही है, मगर बीजेपी कांग्रेस पार्टी का जो ढांचा था, जो हमने 2004 से 2014 तक चलाया और मैं यहाँ मंच से कह सकता हूं, जो 2014 में नहीं चला, जो जनता ने कहा - ये नहीं चलेगा अब, उसी को नरेन्द्र मोदी जी फिर चलाने की कोशिश कर रहे हैं, ओरिजनल आईडिया नहीं है, भाषण देंगे मनरेगा पर, फिर कहेंगे मनरेगा को चलाओ। 


तो अब एक नई सोच की जरुरत है, तो हमारा पहला कदम और ये ऐतिहासिक कदम है, ये छोटा कदम नहीं है। ये ग्रीन रेवोलुशन जैसा, वाईट रेवोलुशन जैसा कदम है, हमने निर्णय ले लिया है - राईट टू मिनिमम इंकम। क्या मतलब, आप बोलेंगे, राईट टू मिनिमम इंकम, क्या मतलबमतलब जो भी हिंदुस्तान के गरीब लोग हैं, भारत में, 2019 में जो कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने जा रही है, वो गारंटी करके जैसे मनरेगा दिया था, गारंटी करके हिंदुस्तान के गरीबों को उनके बैंक अकाउंट में डाय़रेक्ट, बिना किसी दलाल के द्वारा, सीधा ट्रांसफर कर मिनिमम इंकम देगी। ये पहली बार हुआ है, ये भारत जैसे देश में, हिंदुस्तान की साईज वाले देश में ये पहली बार हुआ है। जो मिडल साईज देश हैं, एडवांस देश हैं, चाहे वो यूरोप के देश हों, जापान ये सब देश, उधर भी ये किसी ने अटेंप्ट नहीं किया है। हिंदुस्तान की सरकार इसको अटेंप्ट करेगी और हम इसे सक्सेसफुल बना कर दिखाएंगे। 


मैं उद्योगपतियों मित्रों से कहना चाहता हूं, आप गलतफहमी में मत आईए, कांग्रेस पार्टी आपके खिलाफ नहीं है। कांग्रेस पार्टी क्रोनी कैपिटेलिज्म के खिलाफ है। इसका मतलब जो 5-10 नरेन्द्र मोदी जी के मित्र हैं, अनिल अंबानी जैसे लोग, नीरव मोदी जैसे लोग, मेहुल चोकसी जैसे लोग, जिनको बिना मैरिट के नरेन्द्र मोदी जी ने 30,000 करोड़ रुपए, 50,000 करोड़ रुपए, 60,000 करोड़ रुपए दिए हैं, हम उसके खिलाफ हैं। मगर अब ये बात- हम ये बात बहुत अच्छी तरह समझते हैं कि जहाँ किसान हिंदुस्तान को बनाता है, वहाँ ईमानदार इंडस्ट्रियलिस्ट, छोटा दुकानदार, स्मॉल एंड मीडियम साइज बिजनेसेज ये सब इस देश को बनाते हैं और हम इन सब के लिए जगह बनाने जा रहे हैं। 


अब मैं आपसे थोड़ा कहना चाहता हूँ। आप अलग-अलग स्टेट से आए हो और मुझे काफी खुशी हुई है। मैं पहले वहाँ पर थोड़ा डिस्टर्ब था, कि वहाँ पर लाइन में मुझे एक ही महिला दिखाई दी, फिर यहाँ आया मुझे अच्छा लगा कि यहाँ पर आपने काफी महिलाओं को मंच पर जगह दी है। तो मेरा लक्ष्य है कि कांग्रेस पार्टी में ये जो हमारा महिलाओं का, पुरुषों का बैलेंस है इसको हम थोड़ा-थोड़ा बदलें। मैं चाहता हूँ कि हर स्टेट में, हर डिस्ट्रिक्ट में, हर ब्लॉक में, जो हमारी यूथ लीडरशिप हो, उसमें हमें महिलाएं दिखाई दें, पुरुष दिखाई दें, हर जाति के, हर धर्म के लोग दिखाई दें। ये गुलदस्ता है। 


This is a bouquet of flowers. This is not one design. This is expression of the entire country and what is important here, is that every single voice feels respected. We are not interested in making you wear shorts, in making you wear a hat, and giving you a lathi and making you learn to listen to orders. We are not interested in training you just to accept orders. We are not interested in using you to carry out an assault on India’s institutions. We are not interested in using you to capture the Supreme Court, the High Courts, the Bureaucracy, the Press, and the Election Commission. No! We are not interested. We will not do that. You are political activists and your job is to reflect the voice of the Indian people. Your job is not and will never ever be to capture Indian Institutions and you will learn to respect the institutions that you worked with. 


One day you will become leaders of this nation, you will have to work with the Judiciary, you will have to work with Election Commission, you will have to work with the Bureaucrats, you will have to work with businesses and we want you to learn to respect every single Indian institution because that is what this country is all about. This country is not about some fancy ideas, mediocre idea in the brain of Mr. Mohan Bhagwat. This is not about a fantasy of two-three people. This is the about the expression of every single Indian and we want to have these doors to open for man, woman, every community, every religion, every language. We feel upset if there was somebody, some group in India, whoever it is, if there was some group of India that is not represented in this room, this upsets me. I would say, go to that room, find a person, bring into this room because we are not the voice, and the youngsters of this country have to understand this, we are not the voice of one organization. We are not a voice of one person, we are the voice of one sixth of humanity. This is not a small thing. We are the voice of 1.2 billion people and when we speak, we don’t want to speak as an individual. We want to speak as this country’s voice; we want to be this country’s expression. That is the difference between you and us. That is why, my friends from Tamil Nadu, today, someone came their morning and said that the Tamil people want to teach Mr. Narendra Modi a lesson. Someone else came said that the people from north east want to teach the RSS a lesson. Somebody else came to the people of Rajasthan, Madhya Pradesh are angry with the RSS, because the RSS is confused, because the RSS thinks that they are bigger than India. The RSS thinks that they are the authority, that they are the source of knowledge in this country. And the RSS is absolutely wrong. There is only one source of knowledge in this country and that is the people of this country. And that is basically, what we are defending. The Congress Party is defending the right of the every Indian, you are defending the constitution, you are defending the institutions of this country and let me tell you, doesn’t matter, what fantasies these people in the RSS have. You are going to defeat them and you are going to show them the voice of the Congress Party. 


So, I want to thank all of you, I want to make two requests. You are the vanguard fighting arm of the Congress Party. You agree with that?  You are the cutting edge, correct? So, I want to take a Congress message to people. What is the Congress message? It is inside all of you, if you look carefully, you sit in the room quietly and you look carefully, you will see that inside, you, there is love and affection for all other Indian people. When you see somebody being trampled upon, somebody being hurt, somebody being paralyzed, you have sympathy for that person; you have a feeling that you want to defend that. When you feel our institutions are being attacked you want to defend those institutions. This is what you are and this is the strength that we want to nurture. Of course You will compete with each other and we want you to compete with each other. But we want you to take some of these messages to the people especially to the youngsters of the India. 


Number 1, India has a job problem. India has a job crisis and Shri Narendra Modi has proved that he is unable to solve the job problem. Number 2, India has an agricultural problem; Shri Narendra Modi has proved that he cannot defend the rights of the ‘Kisan’. Number 3, Shri Narendra Modi has shown this country that he is able to steal from the Indian Airforce. There can be no bigger crime. So, these are the messages I want to you take. 


And I want to remember one thing, you have no reason in the world to lack self confidence. You come from the organization. You remember the history of your organization. This is not the organization of Mr. Savarkar, this is not the organization of Mr. Savarkar, who when the British, went to him to grab like this and pressed him. He begged- please, please, please, forgive me, forgive me, I beg you. This is not that organization. This is the organization, when the British told Mahatma Gandhi we are going to put you in the jail, he said please put me in jail again. And when they said we are going to take you out of jail, he said no, I want to go back inside jail, because you have put every single Indian in the Jail and I am not coming out, until every single individual is out. So, you come from that organization and believe me nobody can stop you. 


I want to leave you one last message. The Congress Party is not going to play on the back foot anymore. We are going to play on the front foot and we are not going to be defensive, because we have no reason to be defensive and when we play on the front foot, Mr. Narendra Modi is going to face the strength of the Indian people. I will like to thank you all of you for coming here. All the best, best wishes and I look forward to as many of you participating in politics in the future. 


Thank you.    

Sd/-

(Vineet Punia)

Secretary

Communication Deptt. 

             AICC