Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addressed a public meeting at Sagar, Madhya Pradesh

Hon'ble Congress President Shri Rahul Gandhi addressed a public meeting at Sagar, Madhya Pradesh


ALL INDIA CONGRESS COMMITTEE

24, AKBAR ROAD, NEW DELHI

COMMUNICATION DEPARTMENT


Highlights of the CP Speech: November 16, 2018

 

Congress President Shri Rahul Gandhi addressed a public meeting at Sagar, Madhya Pradesh.


श्री राहुल गांधी ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि दीपक बावरिया जीकमलनाथ जीहीरा सिंह राजपूत जीरेखा चौधरी जीसुधांशु त्रिपाठी जीप्रभ राम चौधरी जी, हमारे कैंडिडेट्सगोविंद सिंह राजपूत जीचौबे जीहर्ष यादव जीकमलेश साहू जीशशि कथूरिया जीसुरेश चंदानी जीएनएसयूआईयूथ कांग्रेसमहिला कांग्रेससेवा दल और कांग्रेस पार्टी के हमारे सब कार्यकर्ताभाईयों और बहनोंप्रेस के हमारे सब मित्रोंआप सबका यहाँ दिल से बहुत-बहुत स्वागत। आप दूर-दूर से हमारी बात सुनने आएइसके लिए दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद।


देश के सामने और मध्य प्रदेश के सामने बहुत सारी समस्याएँ हैं, मगर दो समस्याओं पर बात करना सबसे जरुरी हैं। सबसे पहली और शायद सबसे जरुरी बात, हिंदुस्तान के युवाओं को और मध्य प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने की बात- देश में आप कहीं भी चले जाइए, जहाँ भी आपको भाजपा की सरकार मिलेगी, राज्यों में चले जाइए और युवाओं से सवाल पूछिए, क्या करते हो?, और आपको एक सेकंड में जवाब मिलेगा, कुछ नहीं करते हैं। हाथ ऐसे करते हैं और कहते, कुछ नहीं करते हैं। 


मोदी जी ने वायदा किया था 2 करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देंगे। चीन की सरकार 24 घंटे में 50 हजार युवाओं को रोजगार देती है, नरेन्द्र मोदी जी की सरकार मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया अलग-अलग प्रोग्राम्स के बाद 24 घंटे में सिर्फ 450 युवाओं को रोजगार दे पाती है। मध्य प्रदेश में 35 लाख युवा बेरोजगार हैं, और पिछले दो सालों में बेरोजगारी दोगुनी हो गई है। युवाओं के सुसाईड रेट में 2000 प्रतिशत वृद्धि हुई है। मगर हमारे जो मुख्य मंत्री हैं, मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री हैं, रोगजार के बारे में और उनको रोजगार के रिकॉर्ड के बारे में कुछ नहीं बोलते हैं। घोषणाएं करते रहते हैं, हजारों घोषणाएं की हैं मगर मुख्य मंत्री जी आपको ये नहीं बताते कि 2018 में 700 चपरासी (Peon) की पोस्ट के लिए 3 लाख मध्य प्रदेश के युवाओं ने एप्लिकेशन भरी थी। मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री आपको ये भी नहीं बताते कि एक लाख सरकारी पोस्ट खाली पड़ी हैं, 40 हजार टीचर की पोस्ट खाली पड़ी हैं, 18 हजार स्कूलों में सिर्फ एक टीचर है, मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री आपको ये भी नहीं बताते कि मध्य प्रदेश के स्कूलों को और अस्पतालों को, शिक्षा के सिस्टम को, स्वास्थ्य के सिस्टम को मध्य प्रदेश सरकार ने पूँजीपतियों के हवाले कर दिया है- प्राईवेटाइज कर दिया है। 


लोकसभा चुनाव से पहले मोदी जी ने 15 लाख हर बैंक अकाउंट में डालने का वायदा किया था, 2 करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार का वायदा किया था, मगर केवल अपने भाषणों में! अपने पिछले साढ़े चार साल के रिकॉर्ड के बारे में कि हिंदुस्तान में कितने युवाओं को उन्होंने रोजगार दिया, उसके बारे में एक शब्द नहीं बोलते हैं। यहाँ बहुत सारे युवा खड़े हैं, मैं आपसे पूछना चाहता हूँ, मोदी जी ने आपसे वायदा किया था और ये आपकी जिंदगी का, आपके भविष्य का सवाल है, ये मामूली सवाल नहीं है, मैं आपसे पूछना चाहता हूँ, मध्य प्रदेश की सरकार ने इस भीड़ में कितने युवाओं को पिछले 15 साल में या केन्द्र सरकार ने पिछले साढ़े चार साल में रोजगार दिया, हाथ उठाकर दिखा दो। 


देखिए, एक हाथ नहीं उठा यहाँ पर, एक हाथ नहीं उठा। इसका मतलब शिवराज सिंह चौहान जी ने यहाँ बैठे एक युवा को रोजगार नहीं दिया है। कांग्रेस पार्टी आएगी तो युवाओं के लिए हम 2-3 चीज एक दम करेंगे। पहला काम, जो मैंने सरकारी पोस्ट की बात की, जो आज खाली पड़े हुए हैं, उनको हम भरने का काम करेंगे और मध्य प्रदेश के युवाओं को सरकारी रोजगार देंगे। चाहे वो टीचर की बात हो, प्रोफेसर की बात हो, सरकारी कर्मचारी की बात हो, जो भी पोस्ट खाली हैं उन सब पोस्ट को हम भरकर दिखाएंगे। मध्य प्रदेश में 2 लाख कॉन्ट्रैक्ट एंप्लॉइज हैं और दुःख की बात है कि इनको कम पैसा मिलता है और इनको ये नहीं मालूम होता कि कल इनके पास रोजगार होगा या नहीं। ये लोग काम करते हैं और पूरा का पूरा फायदा मध्य प्रदेश के सबसे अमीर 10-15 बिजनेस वालों-उद्योगपितियों को जाता है। 


दूसरी समस्या है किसानों की, जिसके बारे में मैं किसानों की बात करना चाहता हूँ। शिवराज जी ने पिछले 15 साल किसान की मदद नहीं की। नरेन्द्र मोदी ने साढ़े चार साल में 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपया हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का माफ किया है। 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपया मतलब, मनरेगा को चलाने में 35 हजार करोड़ रुपए लगते हैं। देश में करोड़ों लोगों को रोजगार देने के लिए 35 हजार करोड़ रुपया मनरेगा में लगा। उससे 10 गुना ज्यादा पैसा नरेन्द्र मोदी जी ने चुने हुए अपने 15-20 उद्योगपतियों को दिया है। मैं नरेन्द्र मोदी जी के ऑफिस में गया, स्वयं गया और उनसे मैंने एक सवाल पूछा, मैंने कहा नरेन्द्र मोदी जी एक बात बताइए, आपने 3.5 लाख करोड़ रुपया 15-20 लोगों का माफ किया, आप किसान से बोनस छीनते हो, उसको आपने सही दाम देने का वायदा किया, उसको आप सही दाम नहीं देते हो, एमएसपी नहीं देते हो। बारिश होती है, ओला गिरता है, फसल का नुक्सान होता है आप उसको मुआवजा नहीं देते हो। हम भूमि अधिग्रहण बिल लाए, उसकी जमीन की रक्षा के लिए लाए, उसको आपने रद्द करने की कोशिश की, तीन बार आपने उसको पार्लियामेंट में रद्द करने की कोशिश की, तो मोदी जी आप हमें बताइए, आप किसान का कर्जा माफ क्यों नहीं करते हो? भाईयों और बहनों, मेरे सवाल का जवाब मोदी जी ने नहीं दिया, मोदी जी ने ये भी नहीं कहा, हाँ, किसानों की बहुत बड़ी समस्या है, हाँ हमें उन्हें बोनस देना चाहिए- मदद करनी चाहिए, उनके साथ खड़े होना चाहिए, एक शब्द नहीं बोला। मगर 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपया हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों का कर्जा माफ किया और भाईयों और बहनों, अभी 12 लाख करोड़ रुपया इन्हीं पूँजीपतियों पर बकाया है और नरेन्द्र मोदी जी 12 लाख करोड़ रुपया आहिस्ते, आहिस्ते, आहिस्ते इन सबसे अमीर उद्योगपतियों का, इसे भी माफ करेंगे। 


कर्नाटक में चुनाव था, पंजाब में चुनाव था, मैंने ये बात वहां भी कही। मैंने कहा कि देखिए, अगर पंजाब में नरेन्द्र मोदी की सरकार कर्जा माफ करने को तैयार नहीं है तो जैसे ही पंजाब में कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी 10 दिन के अंदर कर्जा माफ हो जाएगा। फिर मैं कर्नाटक गया, चुनाव था, वही बात मैंने वहाँ कही, नरेन्द्र मोदी अपने चुने हुए 15-20 उद्योगपतियों का लाखों-करोड़ रुपया माफ कर सकता है, किसानों का एक रुपया नहीं माफ कर सकता। कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी, 10 दिन के अंदर कर्नाटक में किसान का कर्जा माफ हो जाएगा। अब आप पंजाब में लोगों को जानते हो, कर्नाटक में आप लोगों को जानते हो, मध्य प्रदेश में, यहाँ रोजगार नहीं मिलता है, तो आपके लोग पंजाब जाते हैं, बैंगलोर में काम ढूंढने जाते हैं, युवा जाते हैं। जब आपको पंजाब में, कर्नाटक में जाने का मौका मिले तो वहाँ जाकर उनसे ये सवाल पूछिए कि राहुल गांधी मध्य प्रदेश आया था, और ये कह रहा था कि कांग्रेस पार्टी ने 10 दिन के अंदर पंजाब में और कर्नाटक में किसानों का कर्जा माफ किया था क्या ये सच बात है? तो आपको जवाब मिल जाएगा। 


तो मैं आपको आश्वासन देना चाहता हूँ, मध्य प्रदेश के किसान को आश्वासन देना चाहता हूँ। भाईयों और बहनों यहाँ कांग्रेस पार्टी की सरकार आने वाली है और उस सरकार के आने के बाद 10 दिन के अंदर, 11 दिन नहीं लगेंगे, 10 दिन के अंदर मध्य प्रदेश के किसानों का कर्जा माफ हो जाएगा। मगर हम वहीं नहीं रुकेंगे, मैंने ये बात छत्तीसगढ़ में भी कही और मैं यहाँ भी कहना चाहता हूँ, आज आप किसी भी प्रदेश में चले जाइए और वहाँ पूछिए, देश को भोजन कौन सा प्रदेश खिलाता है? और दो सेकंड में आपको जवाब मिलेगा, देश को भोजन पंजाब और हरियाणा खिलाते हैं। मैं चाहता हूँ और हम चाहते हैं कि पाँच साल बाद, जब मध्य प्रदेश का युवा रोजगार ढूँढने नहीं, मगर टूरिज्म के लिए कर्नाटक जाए, पंजाब जाए, कहीं और जाए और सवाल पूछे, भईया बताओ देश को भोजन कौन सा प्रदेश खिलाता है, दो सेकंड में जवाब मिले, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ देश को भोजन खिलाते हैं।  


अब ये सपना है और इस सपने को पूरा करने के लिए मिलकर हमें काम करना पड़ेगा। कांग्रेस पार्टी की यहाँ सरकार आएगी तो हम मध्य प्रदेश को कृषि, हिंदुस्तान के कृषि का सेंटर बनाने का काम शुरु कर देंगे। अब आप मुझसे पूछोगे, ये काम कैसे होगा, ये मैं आपको बताता हूँ। अभी आप यहाँ पर सोयाबीन उगाते हो, सही बात है?, सही बात है, सोयाबीन उगता है, यहाँ पर? (जनता ने कहा, हाँ), ठीक है। यहाँ पर पास में अलग-अलग जिलों में, अलग-अलग लोग अलग-अलग चीजें उगाते हैं, कोई फल उगाता है, कोई गेहूँ उगाता है, कोई सोयाबीन उगाता है, कोई सब्जी उगाता है, टमाटर, अलग-अलग सब्जियाँ। आज आप सब्जियों को, फल को, अनाज को मंडी में जाकर बेचते हो, नरेन्द्र मोदी जी आपको सही दाम नहीं दिलवाते हैं, आपको भटकना पड़ता है, अंत में आपको वहाँ सही दाम नहीं मिलता।

 

कांग्रेस पार्टी की सरकार आएगी, हर जिले में, हर ब्लॉक में हम फूड प्रोसेसिंग का कारखाना लगा देंगे। अब कारखाने में क्या होगा? आप सीधा जाकर सोयाबीन, अपना सोयाबीन सीधा जाकर आप कारखाने में दोगे और कारखाना भोपाल में नहीं होगा, पंजाब में नहीं होगा, हरियाणा में नहीं होगा, यहाँ इस डिस्ट्रिक्ट में आपके खेत के बिल्कुल पास में होगा, तो आप सीधा जाकर अपना सोयाबीन, टमाटर, आलू जो भी आप उगाते हो आप कारखाने में जाकर बेचोगे, आपको सही दाम मिलेगा और अगर आप आलू उगाते हो तो आलू के चिप्स बनाने का कारखाना आपके पास बनाया जाएगा। 


अगर आप सोयाबीन उगाते हो, तो सोयाबीन का तेल बनाने का कारखाना आपके पास लगाया जाएगा (जनता ने सिर हिलाकर खुशी जाहिर की), आप सिर हिला रहे हैं, मैंने सही बात बोली न, इससे मध्य प्रदेश के जो किसान हैं, उनको अपनी मेहनत का फल मिलेगा। आज आपकी मेहनत का फल आपको नहीं मिलता है, आज आपसे वो छीन लिया जाता है, भ्रष्टाचार में छीन लिया जाता है और आपको नहीं मिलता है। कांग्रेस पार्टी की सरकार आपको अपनी मेहनत का फल डायरेक्टली आपके बैंक अकाउंट में, आपकी जेब में पैसा डालकर दिलवाएगी। 


थोड़ी सी बात मैं इन दिनों फैले भ्रष्टाचार के बारे में करना चाहता हूँ। नरेन्द्र मोदी आते हैं, भ्रष्टाचार की बात पहले करते थे, आजकल आप उनका भाषण सुनिए, उनके भाषण में भ्रष्टाचार की बात नहीं होती, पहले बहुत होती थी, 56 इंच की छाती है, मुझे प्रधानमंत्री मत बनाओ, मुझे चौकीदार बनाओ, भ्रष्टाचार को मिटा दूँगा, वायदे होते थे। मगर आज के भाषण में नरेन्द्र मोदी जी भ्रष्टाचार शब्द का प्रयोग नहीं करते, कहीं भी नहीं कहते। आज ये नहीं कहते कि मुझे चौकीदार बना दो, क्योंकि अगर प्रधानमंत्री बोलेगा कि भईया, आपने मुझे चौकीदार बनाया तो जनता बोलेगी, चौकीदार (जनता ने कहा, चोर है), सीधा डायरेक्ट वो जवाब मिलेगा। 


भाईयों और बहनों, हिंदुस्तान को हिंदुस्तान का इंफोर्मल सेक्टर चलाता है, हिंदुस्तान के छोटे दुकानदार चलाते हैं, छोटे बिजनेस वाले चलाते हैं, मीडियम साइज बिजनेस वाले चलाते हैं, किसान चलाते हैं, युवा चलाते हैं, मजदूर चलाते हैं। हिंदुस्तान को काले धन वाले चोर नहीं चलाते हैं। अगर ये देश आगे बढ़ता है तो आपके बल पर बढ़ता है। नरेन्द्र मोदी जी ने नोटबंदी की, मैं आपसे छोटा सा सवाल पूछना चाहता हूँ, आप सबको, छोटे दुकानदारों को, स्मॉल-मीडियम बिजनेस वालों को, किसानों को, मजदूरों को, ये माताओं-बहनों को नरेन्द्र मोदी जी ने लाइन में लगाया, याद है आपको? माताएं, आप भूल गईं या आपको याद है कि आपको बैंक के सामने खड़ा किया था, नरेन्द्र मोदी ने। आपको याद है? याद है आपको, सबको याद है (जनता ने कहा, हाँ)। छोटा सा सवाल जब आप बैंक के सामने खड़े थे, तो उस लाइन में आपने हिंदुस्तान के चोरों को, नीरव मोदी को, अनिल अंबानी को, मेहुल चोकसी को, काले धन वालों को देखा था, आपको एक दिखा (जनता ने कहा, नहीं), एक भी वहाँ पर सूट पहना हुआ, काले चश्मे पहना हुआ, अरबपति आपने देखा (जनता ने कहा, नहीं)- ना। एक भी अरबपति, एक काले धन वाला लाइन में नहीं था, लाइन में कौन थे - वो लोग थे, जो ईमानदार हैं। वो लोग थे, जो खेतों में काम करते हैं, वो लोग थे, जो छोटी दुकान चलाते हैं, वो लोग थे, जो छोटा सा बिजनेस चलाते हैं, देश के युवाओं को रोजगार दिलाते हैं। नीरव मोदी 35,000 करोड़ रुपए चोरी करके ले गया। जाने से पहले मेहुल चोकसी, जो उसके साथ 35,000 करोड़ रुपए ले जाने में संलिप्त है, उसने अरुण जेटली की बेटी के अकाउंट में पैसा डाला। विजय माल्या 10,000 करोड़ रुपए लेकर भाग गया, जाने से पहले अरुण जेटली जी से पार्लियामेंट हाउस में मिला, क्या वो आपको नेटबंदी वाली लाईन में दिखेतो अगर ये मोदी जी कालेधन की लड़ाई लड़ रहे हैं तो मुझे एक बात बताओ जो नीरव मोदी भाग जाता है तो मोदी जी भागने देते हैं, माल्या भाग जाता है, मोदी जी भागने देते हैं। लाईन में आपको खड़ा करते हैं और नोटबंदी के बाद बैंक की लाईन में ना अनिल अंबानी दिखता है, ना नीरव मोदी दिखता है, ना मेहुल चोकसी दिखता है। भाईयों और बहनों, अच्छी तरह सुन लो, नोटबंदी से बड़ा घोटाला इस देश के इतिहास में कभी नहीं हुआ है और ये बात साबित हो जाएगी, आने वाले समय में ये बात साबित हो जाएगी कि नरेन्द्र मोदी जी ने हिंदुस्तान के गरीब से गरीब लोगों की जेब में हाथ डालकर, उनका पैसा निकाल कर हिंदुस्तान के सबसे 15-20 अमीर लोगों की जेब में डाला है। 


मगर नरेन्द्र मोदी जी वहाँ नहीं रुके, यूपीए की सरकार थी और ये बड़ी मजेदार बात आपको बताने जा रहा हूं। यूपीए की सरकार थी, लड़ाकू विमान खरीदने थे, यूपीए सरकार ने डॉ. मनमोहन सिंह जी ने, एंटनी जी ने एय़रफोर्स को बता दिया कि देखिए ये जहाज आपका है, इसका प्रय़ोग आप देश की रक्षा करने के लिए करोगे। आप सिर्फ हमें दो बातें बता दो, आपको कौन सा हवाई चाहिए और किस दाम पर आप हवाई जहाज लोगेएयरफोर्स के लोगों ने 8 साल काम किया, अलग-अलग हवाई जहाज टेस्ट किए, उसमें राफेल हवाई जहाज था, यूरो फाईटर हवाई जहाज था, मिग हवाई जहाज था, सुखोई हवाई जहाज था, सब उन्होंने ट्राई किए, अंत में आते और कहते हैं कि राफेल हवाई जहाज सबसे बेहतरीन हवाई जहाज है। हिंदुस्तान की रक्षा के लिए इससे बेहतर हवाई जहाज नहीं है। यूपीए सरकार ने पूछा भईया, किस रेट पर ले रहे हो आप लोगएय़रफोर्स के लोगों ने कहा कि 526 करोड़ रुपए एक हवाई जहाज के लिए, 126 हवाई जहाज। यूपीए सरकार ने कहा, शाबाश! बहुत अच्छा रेट है, आप जाकर हवाई जहाज खरीद लीजिए। 


2014 में यूपीए सरकार चुनाव हारती है, मोदी जी आते हैं। मोदी जी उन्हीं एयरफोर्स के लोगों को बुलाते हैं, बातचीत होती है, मोदी जी फ्रांस जाते हैं, फ्रांस में उनके डेलिगेशन में अनिल अंबानी जी जाते हैं। भाईय़ों और बहनों, जो मैं आपको कह रहा हूं, मेरे शब्द नहीं है, फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति के शब्द हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति ने बोला कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री ने हमें साफ बता दिया था कि राफेल हवाई जहाज 126 नहीं खरीदने हैं, 36 खरीदने हैं और 36 हवाई जहाज जो खरीदे जाएंगे वो 526 करोड़ रुपए प्रति हवाई जहाज में नहीं खरीदे जाएंगे, वो 1600 करोड़ रुपए प्रति जहाज की कीमत पर खरीदे जाएंगे और तीसरी बात, जो यूपीए सरकार ने और हिंदुस्तान की एय़रफोर्स ने कहा था कि हवाई जहाज हिंदुस्तान में बनेगा और हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड कंपनी, सरकारी कंपनी वो हवाई जहाज को बनाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, उसकी कोई जरुरत नहीं है। हवाई जहाज अनिल अंबानी को बनाना है, फ्रांस के राष्ट्रपति ने मीडिया को बता दिया कि नरेन्द्र मोदी जी ने हमें कहा कि अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट नहीं दिया तो भूल जाओ, कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं मिलने वाला। भाईयों और बहनों, चौकीदार ने स्वयं बिना एयरफोर्स से पूछे, बिना रक्षा मंत्री से पूछे और ये मेरा बयान नहीं है, रक्षा मंत्री का बयान है, पर्रिकर जी का बयान है कि उनसे नरेन्द्र मोदी जी ने नहीं पूछा। बिना रक्षा मंत्री से पूछे, बिना एयरफोर्स से पूछे नरेन्द्र मोदी जी ने 30,000 करोड़ रुपए अनिल अंबानी की जेब में डाले हैं। इसलिए, भाईयों और बहनों, नरेन्द्र मोदी जी अपने भाषण में चौकीदार शब्द नहीं प्रय़ोग कर सकते हैं, क्योंकि चौकीदारी जरुर हुई, मगर आपकी नहीं हुई, अनिल अंबानी की चौकीदारी हुई और वो नरेन्द्र मोदी जी ने की। सिर्फ चौकीदारी नहीं की, 30,000 करोड़ रुपए उनकी जेब में डाल दिए। 


चलो, दिल्ली से वापस मध्य प्रदेश आते हैं। शिवराज सिंह चौहान जी की सरकार के दौरान हुए व्यापम घोटाले को स्कैम ऑफ सेंचुरी कहा जाता है। यह सेंचुरी का सबसे बड़ा घोटाला है, 50 लोग मारे गए, शिक्षा का पूरा सिस्टम खत्म कर दिया, नष्ट कर दिया, बर्बाद कर दिया। मध्य प्रदेश में जिसके पास पैसा नहीं है, जो चीटिंग नहीं कर सकता है, वो एक्जाम पास ही नहीं कर सकता है, यह शिवराज सिंह जी की देन है। पूरा का पूरा शिक्षा का सिस्टम तबाह कर दिया, कोई जेल नहीं गया। पूरा मध्य प्रदेश जानता है कि व्यापम स्कैम में शिवराज सिंह चौहान जी का क्या रोल है, उनके परिवार के लोगों का क्या रोल है, मध्य प्रदेश के सारे युवा सबकुछ समझते हैं, जानते हैं कि आज मध्य प्रदेश में उनको रोजगार नहीं मिलता, अगर वो इंजीनियर नहीं बन सकते, डॉक्टर नहीं बन सकते, वकील नहीं बन सकते, तो उसमें बहुत बड़ा हाथ शिवराज सिंह चौहान जी का है, क्योंकि उन्होंने मध्य प्रदेश को व्यापम घोटाला दिया। 


दूसरा उदाहरण, ई-टेंडरिंग स्कैम, 3,000 करोड़ रुपए आपसे छीन लिए गए। शिवराज सिंह चौहान जी परिवार के मित्रों को जितने भी सरकारी कॉन्ट्रैक्ट चाहिए, उनको दे देते हैं, कोई कार्यवाही नहीं, कोई जेल नहीं गया, कोई सजा नहीं, क्योंकि शिवराज चौहान जी मुख्यमंत्री बने बैठे हैं। नर्मदा स्कैम, मिड-डे-मील स्कैम, लंबी लिस्ट बनी हुई है, किसी रिश्तेदार को यहाँ फायदा, किसी दोस्त को वहाँ फायदा, किसी भी कानून को तोड़ सकते हैं, पैसे के लिए, थोड़े से फायदे के लिए, शिक्षा के सिस्टम को नष्ट कर सकते हैं। आज मध्य प्रदेश को कुपोषण का कैपिटल कहा जाता है, लाखों बच्चे मध्य प्रदेश में भूखे मर जाते हैं। 29,000 बच्चे पिछले दो सालों में मरे हैं। 2 लाख 21 हजार मलेरिया के केस, 8,000 डेंगू के केस, 5,600 चिकनगुनिया के केस, ये किसकी देन हैपूरा का पूरा स्वास्थय का सिस्टम प्राईवेट लोगों के हाथ में कर दिया है। आपको एक्सरे की जरुरत पड़ती है, एमआरआई की जरुरत पड़ती है, हजारों रुपए पहले निकाल कर किसी उद्योगपति की जेब में डालो। किसी को कैंसर हो जाता है, किसी को दिल का दौरा पड़ता है, तो लाखों रुपए जेब से निकाल कर उद्योगपति की जेब में डालो और बर्बाद हो जाओ, खत्म हो जाओ। ये है मध्य प्रदेश की सच्चाई। एक तरफ भ्रष्टाचार, दूसरी तरफ बेरोजगारी, बंद अस्पताल, बंद स्कूल, व्यापम स्कैम। 


भाईयों और बहनों, हम दो हिंदुस्तान नहीं चाहते हैं। अगर हमें दो हिंदुस्तान चाहिए होते तो हम आजादी के समय दो झंडे लगा देते, एक 15-20 उद्योगपतियों का झंडा और दूसरा आम जनता का झंडा। हमें सिर्फ एक देश चाहिए, एक हिंदुस्तान चाहिए और उस हिंदुस्तान में सभी को न्याय चाहिए। अगर 15-20 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए माफ हो सकता है तो मध्य प्रदेश के किसान का भी कर्जा माफ हो सकता है और होगा। अगर 15-20 उद्योगपति अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में, अच्छे कॉलेज में भेज सकते हैं तो मध्य प्रदेश के किसान, मध्य प्रदेश के मजदूर, मध्य प्रदेश के छोटे दुकानदार भी अपने बच्चों को बेहतर से बेहतर स्कूल में भेज सकेंगे। जब बड़ा उद्योगपति बीमार होता है तो अगर वो अपने बच्चे को इलाज के लिए या अपने आपको इलाज के लिए अस्पताल ले जा सकता है तो मध्य प्रदेश के किसान भी अपने इलाज के लिए, अपने माता-पिता के इलाज के लिए बेहतर से बेहतर अस्पताल में इलाज करवा सकें, ऐसा हिंदुस्तान हम आपको देना चाहते हैं और ये आपके बिना नहीं हो सकता है। 


मैं आपको सीधा बता देता हूं। आप सोचेंगे कि राहुल गांधी आया है, किसानों को तोहफा दे रहा है, मैं कोई तोहफा नहीं दे रहा हूं, ये आपका हक है, ये कांग्रेस पार्टी आपको फ्री गिफ्ट नहीं दे रही है, हमने पंजाब में किसान कर्जा माफी की, वो तोहफा नहीं था, फ्री गिफ्ट नहीं था, वो पंजाब के किसानों का पैसा था। कर्नाटक में हमने कर्जा माफी की, वो कोई तोहफा नहीं था, गिफ्ट नहीं था, जैसा मोदी जी कहते हैं मैंने ये किया, मैंने वो किया। ऐसा नहीं है। ये सब आपका पैसा है, आपसे चोरी हो रहा है, आपसे लिया जा रहा है। मैं आपको सीधा बता देता हूं कि जो आपका है, वो हम आपको वापस देना चाहते हैं। आपकी मजदूरी है, आपका खून-पसीना है और आपका हक है। तो जो हम करेंगे आपके लिए करेंगे, किसान का कर्जा माफ होगा, हर डिस्ट्रिक्ट में कारखाने लगेंगे, फूड प्रोसेसिंग प्लॉंट लगेंगे और किसान जो उगाता है, जाकर सीधा बेचेगा, उसकी जेब में पैसा आएगा, हाई क्वालिटी के सरकारी अस्पताल, हाई क्वालिटी के कॉलेज, हाई क्वालिटी के सरकारी कॉलेज और यूनिवर्सिटी मध्य प्रदेश की सरकार लगाएगी, कैसे लगाएगी - आपके पैसे के साथ लगाएगी, आपके भविष्य के लिए लगाएगी। नाम नहीं लेना चाहता हूँ, हम 15-20 उद्योगपतियों को आपका पैसा नहीं देना चाहते हैं। ये फर्क है हममें और उनमें। 


दूसरी बात सुन लीजिए, मेरे आप भाषण सुन लीजिए, पिछले 15 साल से मैं राजनीति में हूं। मैंने आपसे जिंदगी में 15 लाख की बात नहीं की, मैं झूठे वायदे नहीं करता हूं। मोदी जी आते हैं, जहाँ जाते हैं, 3-4 झूठे वायदे कर आते हैं। यहाँ शिवराज सिंह चौहान जी घोषणा कर देते हैं 10-15, मैं फिजूल की घोषणाएँ नहीं करता हूं। मैंने आपसे कहा था किसान की जमीन के लिए लड़ जाऊंगा। कांग्रेस पार्टी ने भूमि अधिग्रहण बिल आपको दिया, हमने आपसे कहा था, गरीबों को फायदा पहुंचाएंगे, मनरेगा हमने आपको दे दिया, भोजन का अधिकार कांग्रेस ने आपको दिया। व्यापम स्कैम पता कैसे लगा, आरटीआई से (राईट टू इनफोर्मेशन) से पता चला। मोदी जी ने सूचना का अधिकार को खत्म कर दिया गुजरात में, पूरे हिंदुस्तान में खत्म करने का प्रयास किया, हमने आपको औजार दिया था, इसलिए व्यापम स्कैम के बारे में जानकारी बाहर आई है। तो मैं झूठे वायदे नहीं करने वाला हूं, चुनाव के बाद आप देख लेना, चुनाव के बाद 10 दिन के अंदर किसान का कर्जा माफ हो जाएगा, गारंटी दे कर कह रहा हूं। ये भी सुन लो, अगर कांग्रेस पार्टी का मुख्यमंत्री 10-15 दिन के अंदर कर्जा माफ नहीं करेगा तो उसे बदल दिया जाएगा और दूसरा मुख्यमंत्री यह काम करेगा।    


कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों को आप जिताईए, भारी-भारी बहुमत से जिताईए और मध्य प्रदेश में, मध्य प्रदेश की जनता की सरकार बनाईए। मध्य प्रदेश में किसानों की सरकार, छोटे दुकानदारों की सरकार, मजदूरों की सरकार, युवाओं के भविष्य की सरकार बनाईए। 


आप सबका दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद। आप लोग दूर-दूर से बड़ी संख्या में आए, मैं काफी लंबा बोल गया, इतने प्यार से आप सब ने मेरी बात सुनी। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। 


नमस्कारजय हिंद। 


Sd/-

(Vineet Punia)

Secretary

Communication Deptt. 

                                                        AICC